19 June 2015

Lyrics Of "Abhi Abhi" From Movie - Jo Hum Chahein (2011)

Abhi Abhi
Abhi Abhi
Lyrics Of Abhi Abhi From Movie - Jo Hum Chahein (2011):  A Sad song sung by Sasha Tirupati and Krishnakumar Kunnath (K.K) Featuring Sunny Gill and Simran Kaur Mundi.

Singer: Sasha Tirupati, Krishnakumar Kunnath (K.K)
Music: Sachin Gupta
Lyrics: Kumaar
Star Cast: Sunny Gill, Simran Kaur Mundi, Alyy Khan, Achint Kaur, Yuri Suri, Samar Virmani, Mansi Multani, Ritwik Dhanjani



The Video of this song is available on Youtube at the official Channel T-Series. The Video is of 4 minutes and 36 seconds duration.






Lyrics of "Abhi Abhi"



ankh phiji te dil roya ankh phiji te dil roya
ankh phiji te dil roya ankh phiji te dil roya
ishq de raste bade pathreele
kade chube kacch kade chubde ne teele
seene vich hoonk uthe rooh tak jaaye
dard bada roya dard bada hoya
abhi abhi dil toota hai
abhi abhi khawab me daraare padi hai
abhi abhi saaya rootha hai
abhi abhi haath se lakeere giri hai
zindagi naraaz hui halki si awaaz hui
toota hai kuch apne darmiyaa
faaslo ki chot lagi
jab dil ko mehsoos hui
palako pe hai chaayi badliya
abhi abhi dil toota hai
abhi abhi khawab me daraare padi hai
abhi abhi saaya rootha hai
abhi abhi haath se lakeere giri hai

aankho me baarishe hai, badal ki saazishe hai
ya pyaar ki hai sazaa
murjhayi khwaishe hai, gham ki rihaishe hai
mujhme bacha hai aur kya
kaanch si lage hawa, aanch si lage subha
chubhti hai yeh mujhko dooriya
abhi abhi dil toota hai
abhi abhi khawab me daraare padi hai
abhi abhi saaya rootha hai
abhi abhi haath se lakeere giri hai

dil ke hai saaye tanha kaise jeeyu yeh lamha
yeh waqt mujhse hai khafa
kya baaki reh gaya hai
sab kuch toh beh gaya hai
hai khali khali raasta
saans hai bujhi bujhi har khusi dabi dabi
dard me hai dooba yeh samaa
abhi abhi dil toota hai
abhi abhi khawab me daraare padi hai
abhi abhi saaya rootha hai
abhi abhi haath se lakeere giri hai


Lyrics in Hindi (Unicode) of "अभी अभी"



अख पीजी ते दिल रोया अख पीजी ते दिल रोया
अख पीजी ते दिल रोया अख पीजी ते दिल रोया
इश्क दे रस्ते बड़े पथरीले
कड़े चुभे कच्छ चुभ दे ने टीले
सीने विच हूंक उठे रूह तक जाए
दर्द बड़ा रोया दर्द बड़ा होया
अभी अभी दिल टुटा है
अभी अभी ख्वाब में दरारे पड़ी हैं
अभी अभी साया रूठा है
अभी अभी हाथ से लकीरे गिरी है
जिंदगी नाराज़ हुई हल्की सी आवाज़ हुई
टूटा है कुछ अपने दरमियान
फासलों की चोट लगी
जब दिल को महसूस हुई
पलकों पे है छाई बदलिया
अभी अभी दिल टुटा है
अभी अभी ख्वाब में दरारे पड़ी हैं
अभी अभी साया रूठा है
अभी अभी हाथ से लकीरे गिरी है

आँखों में बारिश हैं, बादल की साज़िश है
या प्यार की है सजा
मुरझाई ख्वाहिशे है, गम की रिहाईशे है
मुझमे बचा है और क्या
कांच सी लगे हवा, आग सी लगे सुबह
चुभती है ये मुझको दूरियाँ
अभी अभी दिल टुटा है
अभी अभी ख्वाब में दरारे पड़ी हैं
अभी अभी साया रूठा है
अभी अभी हाथ से लकीरे गिरी है

दिल के है साए तन्हा कैसे जीयु ये लम्हा
ये वक़्त मुझसे है खफा
क्या बाकी रह गया है सब कुछ तो बह गया है
है खाली खाली रास्ता
सांस है बुझी बुझी हर ख़ुशी दबी दबी
दर्द में है डूबा ये समां अभी अभी दिल टुटा है
अभी अभी ख्वाब में दरारे पड़ी हैं
अभी अभी साया रूठा है अभी अभी हाथ से लकीरे गिरी है


No comments:

Post a comment