21 June 2015

Lyrics Of "Hasna Hasana" From Movie - Shahrukh Bola Khoobsurat Hai Tu (2010)

Hasna Hasana
Hasna Hasana
Lyrics Of Hasna Hasana From Movie - Shahrukh Bola Khoobsurat Hai Tu (2010): Nice playful song sung by Shankar Mahadevan lyrics penned by Vasuda Sharma

Singer: Shankar Mahadevan
Music: Vasuda Sharma
Lyrics: Vasuda Sharma
Star Cast: Pritika Chawla, Nagesh Bhonsle, Choyoti Ghosh, Makrand Deshpande, Sanjay Dadheech, Afzal Khan, Kay Kay Menon, Shahrukh Khan.
 

The audio of this song is available on youtube.


Lyrics of "Hasna Hasana"



dhinak dhin dhinak dhin dhinak dhin
do pal ki ye jindagi hai, meri jaan jee lo isko
jane kal aye na aaye meri jaan jeelo har pal ko
khusi ke sath gam bhi jude hai kare kya
o gamo ko gale laga lo or apna lo meri janeja
aaj jo nasha hai kal ko bhulana hasna hasana
gam ko bhulana, hasna hasana
kal ko bhulana, hasna hasana
gam ko bhulana, hasna hasana

o ek din to marna hi hai, meri jaan ham sabhi ko
jeene ki mohlat milti hai, meri jaan har kisi ko
jee nahi pata hai har koi kare kya
to chalo ham inhe batade, jina sikhade jane jaa
aaj jo nasha hai, kal ko bhulana, hasna hasana
gam ko bhulana, hasna hasana
kal ko bhulana, hasna hasana
gam ko bhulana, hasna hasana

pairo ke neeche jamin lekin najar asmaan par
apne hi hatho se kismat likhe badlo par
sitaro ki hi tarah kash mile
ham khusi se jhilmilaye or muskuraye jaanejan
aaj jo nasha hai kal ko bhulana, hasna hasana
gam ko bhulana, hasna hasana
kal ko bhulana, hasna hasana
gam ko bhulana, hasna hasana 



Lyrics in Hindi (Unicode) of "हसना हसना"



धिनक धिन धिनक धिन धिनक धिन
दो पल की ये जिंदगी हैं, मेरी जान जी लो इसको
जाने कल आये ना आये मेरी जान जिलो हर पल को
ख़ुशी के साथ ग़म भी जुड़े हैं करे क्या
ओ गमो को गले लगा लो और अपना लो मेरी जानेजां
आज जो नशा हैं कल को भुलाना, हसना हसना
ग़म को भुलाना, हसना हसना
कल को भुलाना, हसना हसना
ग़म को भुलाना, हसना हसना

ओ इक दिन तो मरना ही है, मेरी जान हम सभी को
जीने की मोहलत मिलती है, मेरी जान हर किसी को
जी नहीं पता है हर कोई करे क्या
तो चलो हम इन्हें बतादे, जीना सिखादे जानेजां
आज जो नशा हैं कल को भुलाना, हसना हसना
ग़म को भुलाना, हसना हसना
कल को भुलाना, हसना हसना
ग़म को भुलाना, हसना हसना

पैरो के निचे जमीं लेकिन नजर आसमान पर
अपने ही हाथो से किस्मत लिखे बादलो पर
सितारों की ही तरह काश मिले
हम ख़ुशी से झिलमिलाये और मुश्कुराए जानेजां
आज जो नशा हैं कल को भुलाना, हसना हसना
ग़म को भुलाना, हसना हसना
कल को भुलाना, हसना हसना
ग़म को भुलाना, हसना हसना

No comments:

Post a comment