23 June 2015

Lyrics Of "Maula Samjha De Inhe" From Movie - Allah Ke Banday (2010)

Maula Samjha De Inhe
Maula Samjha De Inhe
Lyrics Of Maula Samjha De Inhe From Movie - Allah Ke Banday (2010): A rock song sung by Krishna, Hamza Faruqui featuring Sharman Joshi & Faruk Kabir

Singer: Krishna, Hamza Faruqui
Music: Chirantan Bhatt
Lyrics: Sarim Momin
Star Cast: Sharman Joshi, Faruk Kabir, Naseruddin Shah, Atul Kulkarni, Anjana Sukhani, Rukhsaar Rehman, Zakir Hussain.


The video of this song is available on youtube at the official channel Cinecurry. This video is of 2 minutes 14 seconds duration.


Lyrics of "Maula Samjha De Inhe"


maula samjha de inhe maula tune na bhaid ye khola
ke ye hai bhool bhulaiya
maula samjha de inhe maula tune na bhaid ye khola
ke ye hai bhool bhulaiya
sajde kare ke dar se dare ke tasbi pade ke har su lade
ke bhatke hue hai bande tere tu dikhla de raah jis pe pade
jab zikar khuda ka aata hai sun ke bechain ye lata hai
karde tu karam, kya jata hai
maula samjha de inhe maula tune na bhaid ye khola
ke ye hai bhool bhulaiya
maula maula maula samjha de uljhe hai suljha de
maula maula maula samjha de uljhe hai suljha de

marham ki talash me dekho nasoor mile jo mujhko
to zakhm hi doonga mai to
ab sanse bhi jab leta hu nafrat ko hawa deta hu
mar mar ke yaha jita hu
jab zikr khuda ka aata hai sun ke bechain ye lata hai
karde tu karam kya jata hai
maula samjha de inhe maula tune na bhaid ye khola
ke yeh hai bhool bhulaiya

ye hi ilteja hai meri yehi dua hai
kisi par bhi na guzre jo yu saha hai
mera arsh arsh tera farsh maula
yehi arz arz maine kiya hai
tu hai paak paak mai hu khak khak
ye bhi mana maine mujhpe teri panah hai
mere ashk ashk ye hi keh rahe hai
meri sans sans mujhpe saza hai
allah ke banday, allah ke banday
jab zikar khuda ka aata hai sun ke bechain ye laata hai
karde tu karam kya jaata hai
maula samjha de inhe maula tune na bhaid ye khola
ke ye hai bhool bhulaiya
maula samjha de inhe maula tune na bhaid ye khola
ke yeh hai bhool bhulaiya, allah ke banday


Lyrics in Hindi (Unicode) of "मौला समझा दे इन्हें"

 
मौला समझा दे इन्हें मौला तूने ना भेद ये खोला
के ये हैं भूल भुलैया
मौला समझा दे इन्हें मौला तूने ना भेद ये खोला
के ये हैं भूल भुलैया
सजदे करे के दर से डरे के तस्बी पड़े के हर सु लडे
के भटके हुए है बन्दे तेरे तू दिखला दे राह जिस पे पड़े
जब जिक्र खुदा का आता हैं सुन के बेचैन ये लाता हैं
करदे तू करम, क्या जाता हैं
मौला समझा दे इन्हें मौला तूने ना भेद ये खोला
के ये हैं भूल भुलैया
मौला मौला मौला समझा दे उलझे है सुलझा दे
मौला मौला मौला समझा दे उलझे है सुलझा दे

मरहम की तलाश में देखो नासूर मिले जो मुझको
तो जख्म ही दूंगा मैं तो
अब सांसे भी जब लेता हु नफरत को हवा देता हु
मर मर के यहाँ जीता हु
जब जिक्र खुदा का आता हैं सुन के बेचैन ये लाता हैं
करदे तू करम क्या जाता हैं
मौला समझा दे इन्हें मौला तूने ना भेद ये खोला
के ये हैं भूल भुलैया

ये ही इल्तजा है मेरी येही दुआ है
किसी पर भी ना गुजरे जो यु सहा हैं
मेरा अर्श अर्श तेरा फ़र्स मौला
येही अर्ज़ अर्ज़ मैंने किया हैं
तू है पाक पाक मैं हु खाक खाक
ये भी माना मैंने मुझपे तेरी पनाह हैं
मेरे अश्क अश्क ये ही कह रहे हैं
मेरी साँस साँस मुझपे सजा हैं
अल्ला के बंदे, अल्ला के बंदे
जब जिक्र खुदा का आता हैं सुन के बेचैन ये लाता हैं
करदे तू करम क्या जाता हैं
मौला समझा दे इन्हें मौला तूने ना भेद ये खोला
के ये हैं भूल भुलैया
मौला समझा दे इन्हें मौला तूने ना भेद ये खोला
के ये हैं भूल भुलैया, अल्ला के बंदे

No comments:

Post a comment