30 June 2015

Lyrics Of "Tu Hai Ishk Mera" From Movie - Fear (2010)

Tu Hai Ishk Mera
Tu Hai Ishk Mera
Lyrics Of Tu Hai Ishk Mera From Movie - Fear (2010): A love song sung by Udit Narayan, Sonu Nigam, Alka Yagnik & music composed by Himesh Reshammiya.

Singer: Udit Narayan, Sonu Nigam, Alka Yagnik
Music: Himesh Reshammiya
Lyrics: Sameer
Star Cast: Vishwaas Paandya, Ameet M Gaurr, Alisha, Swapnil, Aditya Ralkar




Lyrics of "Tu Hai Ishk Mera"


tu hai ishk mera, ishk yeh nibhana hai
kitna pyar hai tumse tumko batana hai
tu hai ishk mera, ishk yeh nibhana hai
kitna pyar hai tumse tumko batana hai
tumko batana hai
tu hai ishk mera, ishk yeh nibhana hai
kitna pyar hai tumse tumko batana hai

hai nayee roshanee rat hai nayee
silsile hai naye, bat hai nayee
jane kyun dhadak raha hai dil yeh bar bar
ho rahee hu aaj kyun mai itanee bekarar
teree yad me mujhko sab kuchh bhulana hai
kitna pyar hai tumse tumko batana hai
tumko batana hai
tu hai ishk mera, ishk yeh nibhana hai
kitna pyar hai tumse tumko batana hai

ankahee ansunee dastan hai
pyar bhee ik ajab imtehan hai
isame ik junun sa hai aur ik nasha
jo kare wahee yeh jane isame dard kya
dardo gum kaa ishk se rishta purana hai
kitna pyar hai tumse tumko batana hai
tumko batana hai
tu hai ishk mera, ishk yeh nibhana hai
kitna pyar hai tumse tumko batana hai
tumko batana hai
tu hai ishk mera, ishk yeh nibhana hai
tu hai ishk mera, ishk yeh nibhana hai
tu hai ishk mera, ishk yeh nibhana hai


Lyrics in Hindi (Unicode) of "तू हैं इश्क मेरा"


तू हैं इश्क मेरा, इश्क ये निभाना हैं
कितना प्यार हैं तुमसे तुमको बताना हैं
तू हैं इश्क मेरा, इश्क ये निभाना हैं
कितना प्यार हैं तुमसे तुमको बताना हैं
तुमको बताना हैं
तू हैं इश्क मेरा, इश्क ये निभाना हैं
कितना प्यार हैं तुमसे तुमको बताना हैं

हैं नई रौशनी रात हैं नई
सिलसिले हैं नए, बात हैं नई
जाने क्यूँ धड़क रहा हैं दिल ये बार बार
हो रही हूँ आज क्यूँ मैं इतनी बेक़रार
तेरी याद मे मुझको सब कुछ भुलाना हैं
कितना प्यार हैं तुमसे तुमको बताना हैं
तुमको बताना हैं
तू हैं इश्क मेरा, इश्क ये निभाना हैं
कितना प्यार हैं तुमसे तुमको बताना हैं

अनकही अनसुनी दास्ताँ हैं
प्यार भी इक अजब इम्तेहान हैं
इसमें एक जूनून सा हैं और इक नशा
जो करे वही ये जाने इसमें दर्द क्या
दर्दो गम का इश्क से रिश्ता पुराना हैं
कितना प्यार हैं तुमसे तुमको बताना हैं
तुमको बताना हैं
तू हैं इश्क मेरा, इश्क ये निभाना हैं
कितना प्यार हैं तुमसे तुमको बताना हैं
तुमको बताना हैं
तू हैं इश्क मेरा, इश्क ये निभाना हैं
तू हैं इश्क मेरा, इश्क ये निभाना हैं
तू हैं इश्क मेरा, इश्क ये निभाना हैं

No comments:

Post a comment