10 July 2015

Lyrics Of "Meri Zidd Hai Jeene Ki" From Latest Movie - Bangistan (2015)

Meri Zidd Hai Jeene Ki
Meri Zidd Hai Jeene Ki
Lyrics Of Meri Zidd Hai Jeene Ki From Movie - Bangistan (2015): A rock song sung by Siddharth Basrur, Ram Sampath and lyrics penned by Puneet Krishna.

Singer: Siddharth Basrur, Ram Sampath
Music: Ram Sampath
Lyrics: Puneet Krishna
Star Cast: Jacqueline Fernandez, Riteish Deshmukh, Pulkit Samrat, Chandan Roy Sanyal, Akash Pandey, Aarya Babbar, Kumud Mishra



The audio of this song is available on youtube at the official channel T-Series. This video is of 3 minutes 26 seconds duration.


Lyrics of "Meri Zidd Hai Jeene Ki"


ye pyala aave zam zam ka hai
khwahish isko peene ki
sab kahe marne se jannat
meri zidd hai jeene ki

ye pyala aave zam zam ka hai
khwahish isko peene ki
sab kahe marne se jannat
meri zidd hai jeene ki

aaj to mera apna hai, jee jaane do
kal ki kal dekhenge, kal ko aane do
poore jag ko roshan kar de
aag ye mere seene ki
sab kahe marne se jannat
meri zidd hai jeene ki
poore jag ko roshan kar de
aag ye mere seene ki
sab kahe marne se jannat
meri zidd hai jeene ki

dhoop chaahiye to sooraj leke aana
main maalik meri marzi ka na sikhlana
banda raha nahi main nadaan
meri jaat kameene ki
sab kahe marne se jannat
meri zidd hai jeene ki
banda raha nahi main nadaan
meri jaat kameene ki
sab kahe marne se jannat
meri zidd hai jeene ki

meri zidd, meri zidd hai jeene ki
meri zidd, meri zidd hai jeene ki


Lyrics in Hindi (Unicode) of "मेरी जिद्द हैं जीने की"



ये प्याला आवे ज़म ज़म का हैं
ख्वाहिश इसको पीने की
सब कहे मरने से जन्नत
मेरी जिद्द हैं जीने की

ये प्याला आवे ज़म ज़म का हैं
ख्वाहिश इसको पीने की
सब कहे मरने से जन्नत
मेरी जिद्द हैं जीने की

आज तो मेरा अपना हैं, जी जाने दो
कल की कल देखेंगे, कल को आने दो
पूरे जग को रोशन कर दे
आग ये मेरे सीने की
सब कहे मरने से जन्नत
मेरी जिद्द हैं जीने की
पूरे जग को रोशन कर दे
आग ये मेरे सीने की
सब कहे मरने से जन्नत
मेरी जिद्द हैं जीने की

धुप चाहिए तो सूरज लेके आना
मैं मालिक मेरी मर्ज़ी का ना सिखलाना
बंदा रहा नहीं मैं नादान
मेरी जात कमीने की
सब कहे मरने से जन्नत
मेरी जिद्द हैं जीने की
बंदा रहा नहीं मैं नादान
मेरी जात कमीने की
सब कहे मरने से जन्नत
मेरी जिद्द हैं जीने की

मेरी जिद्द, मेरी जिद्द हैं जीने की
मेरी जिद्द, मेरी जिद्द हैं जीने की

No comments:

Post a comment