3 August 2015

Lyrics Of "Itni Si Baat Hai" From Movie - Prague (2013)

Itni Si Baat Hai
Itni Si Baat Hai
Lyrics Of Itni Si Baat Hai From Movie - Prague (2013): A rock song sung by Suraj Jagan featuring Chandan Roy Sanyal, Elena Kazan, Arfi Lamba, Mayank Kumar, Sonia Bindra.

Singer: Suraj Jagan
Music: Atif Afzal
Lyrics: Varun Grover
Star Cast: Chandan Roy Sanyal, Elena Kazan, Arfi Lamba, Mayank Kumar, Sonia Bindra.




The audio of this song is available on YouTube at the channel CM Bollywood. This audio is of 5 minutes 42 seconds duration.
 

Lyrics of "Itni Si Baat Hai"


itni si baat hai, waqt ki saugat hai
reng ke uchalta main daudta har sadak
woh sochta sochta har ghadi sochta
soch ke sala sab karta hai narak

waqt toh sidha sa hai
haraami meri zaat hai
bas itni si baat hai, baat hai
waqt ke saugat hai
itni si baat hai, waqt ki saugat hai
reng ke uchalta main daudta har sadak
woh sochta sochta har ghadi sochta
soch ke sala sab karta hai narak

kaisi kaisi kaisi aag sutte ki
kaisi kaisi kaisi roshni
thoda thoda thoda sa dhuaan hai
thodi thodi thodi raakh bhi
iske sang hum kyun jale
duniya ke saath kyun chale
khali ho dil ho ya bhara
har haal mein hum toh hole

itni si baat hai, waqt ki saugat hai
reng ke uchalta main daudta har sadak
woh sochta sochta soch soch sochta
har gadi sochta
soch ke sala sab karta hai narak

waqt toh sidha sa hai
haraami meri zaat hai
bas itni si baat hai, baat hai
waqt ke saugat hai
itni si baat hai, waqt ki saugat hai
reng ke uchalta main daudta har sadak
woh sochta sochta har ghadi sochta
soch ke sala sab karta hai narak


Lyrics in Hindi (Unicode) of "इतनी सी बात हैं


इतनी सी बात हैं, वक़्त की सौगात हैं
रेंग के उछलता मैं दौड़ता हर सड़क
वो सोचता सोचता हर घडी सोचता
सोच के साला सब करता हैं नरक

वक़्त तो सीधा सा हैं
हरामी मेरी जात हैं
बस इतनी सी बात हैं, बात हैं
वक़्त के सौगात हैं
इतनी सी बात हैं, वक़्त की सौगात हैं
रेंग के उछलता मैं दौड़ता हर सड़क
वो सोचता सोचता हर घडी सोचता
सोच के साला सब करता हैं नरक

कैसी कैसी कैसी आग सुट्टे की
कैसी कैसी कैसी रौशनी
थोडा थोडा थोडा सा धुआ हैं
थोड़ी थोड़ी थोड़ी राख हैं

इसके संग हम क्यूँ जले
दुनिया के साथ क्यूँ चले
खाली हो दिल हो या भरा
हर हाल मे हम तो भले

इतनी सी बात हैं, वक़्त की सौगात हैं
रेंग के उछलता मैं दौड़ता हर सड़क
वो सोचता सोचता सोच सोच सोचता
हर घडी सोचता
सोच के साला सब करता हैं नरक

वक़्त तो सीधा सा हैं
हरामी मेरी जात हैं
बस इतनी सी बात हैं, बात हैं
वक़्त के सौगात हैं
इतनी सी बात हैं, वक़्त की सौगात हैं
रेंग के उछलता मैं दौड़ता हर सड़क
वो सोचता सोचता हर घडी सोचता
सोच के साला सब करता हैं नरक

No comments:

Post a comment