1 August 2015

Lyrics Of "Matak Mere Cheeta" From Movie - Love In Bombay (2013)

Matak Mere Cheeta
Matak Mere Cheeta
Lyrics Of Matak Mere Cheeta From Movie - Love In Bombay (2013): A playful song in the voice of Kishore Kumar featuring Waheeda Rehman, Joy Mukherjee, Kishore Kumar

Singer: Kishore Kumar
Music: Shankar Jaikishan
Lyrics: Majrooh Sultanpuri
Star Cast: Joy Mukherjee, Kishore Kumar, Waheeda Rehman, Ashok Kumar, Rehman, Sonia Sahni.




The video of this song is available on YouTube at the official channel Saregama. This video is of 4 minutes 32 seconds duration.


Lyrics of "Matak Mere Cheeta"


matak mere cheeta matak mere cheeta
matak mere cheeta phir haar ke main jita
meri radha meri sita mil gayi mujhe re
matak mere cheeta phir haar ke main jita
meri radha meri sita mil gayi mujhe re
matak mere cheeta phir haar ke main jita
meri radha meri sita mil gayi mujhe re

mere sang lahrake dol aise balkhake
rokte hi reh jaye log
leke tujhko baaho me yu chalu ke raaho me
dekhte hi reh jaye log
mere sang lahrake dol aise balkhake
rokte hi reh jaye log
leke tujhko baaho me yu chalu ke raaho me
dekhte hi reh jaye log
chal pyare kismat khul gayi, matak mere cheeta
matak mere cheeta phir haar ke main jita
meri radha meri sita mil gayi mujhe re
matak mere cheeta phir haar ke main jita
meri radha meri sita mil gayi mujhe re

ye riwaj mehalo ka reet sheharowalo ki
main deewana kya janu re
ab koi bhala maane ya koi bura maane
main to aaj na maanu re
ye riwaj mehalo ka reet sheharowalo ki
main deewana kya janu re
ab koi bhala maane ya koi bura maane
main to aaj na maanu re
mil gayi meri duniya mil gayi matak mere cheeta
matak mere cheeta phir haar ke main jita
meri radha meri sita mil gayi mujhe re
matak mere cheeta phir haar ke main jita
meri radha meri sita mil gayi mujhe re
matak mere cheeta phir haar ke main jita
meri radha meri sita mil gayi mujhe re

Lyrics in Hindi (Unicode) of "मटक मेरे चिता"


मटक मेरे चिता मटक मेरे चिता
मटक मेरे चिता फिर हार के मैं जीता
मेरी राधा मेरी सिता मिल गई मुझे रे
मटक मेरे चिता फिर हार के मैं जीता
मेरी राधा मेरी सिता मिल गई मुझे रे
मटक मेरे चिता फिर हार के मैं जीता
मेरी राधा मेरी सिता मिल गई मुझे रे

मेरे संग लहराके डोल ऐसे बलखाके
रोकते ही रह जाए लोग
लेके तुझको बाहों में यु चलू के राहो में
देखते ही रह जाए लोग
मेरे संग लहराके डोल ऐसे बलखाके
रोकते ही रह जाए लोग
लेके तुझको बाहों में यु चलू के राहो में
देखते ही रह जाए लोग
चल प्यारे किस्मत खुल गई, मटक मेरे चिता
मटक मेरे चिता फिर हार के मैं जीता
मेरी राधा मेरी सिता मिल गई मुझे रे
मटक मेरे चिता फिर हार के मैं जीता
मेरी राधा मेरी सिता मिल गई मुझे रे

ये रिवाज महलो का रीत शहरवालो की
मैं दीवाना क्या जानू रे
अब कोई भला माने या कोई बुरा माने
मैं तो आज ना मानु रे
ये रिवाज महलो का रीत शहरवालो की
मैं दीवाना क्या जानू रे
अब कोई भला माने या कोई बुरा माने
मैं तो आज ना मानु रे
मिल गई मेरी दुनिया मिल गई मटक मेरे चिता
मटक मेरे चिता फिर हार के मैं जीता
मेरी राधा मेरी सिता मिल गई मुझे रे
मटक मेरे चिता फिर हार के मैं जीता
मेरी राधा मेरी सिता मिल गई मुझे रे
मटक मेरे चिता फिर हार के मैं जीता
मेरी राधा मेरी सिता मिल गई मुझे रे

No comments:

Post a comment