23 December 2015

Lyrics Of "Tere Liye Mera Kareem" From Latest Movie - Wazir (2016)

Tere Liye Mera Kareem
Tere Liye Mera Kareem
A pop song sung by Prashant Pillai & Gagan Baderiya, lyrics are written by A. M. Turaz.

Music: Prashant Pillai
Lyrics: A. M. Turaz.
Star Cast: Amitabh Bachchan, Farhan Akhtar, Aditi Rao Hydari, John Abraham, Neil Nitin Mukesh, Manav Kaul.




The audio of this song is available on YouTube at the official channel T-Series. This audio is of 2 minutes 59 seconds duration.

Lyrics of "Tere Liye Mera Kareem"


tere liye mera kareem, fana ho jism ki zameen
yahi hai mera yakeen banu tera mujahideen
deen-e-haq hai tera deen janasheen janasheen
tera deen tera deen
tu haseen se haseen, main haqeer se haqeer

tere liye mere kareem, fanaa ho jism ki zameen
yahi hai mera yakeen banu tera mujahideen
tere liye mere kareem, fanaa ho jism ki zameen
yahi hai mera yakeen banu tera mujahideen
tere liye mere kareem, fanaa ho jism ki zameen
yahi hai mera yakeen banu tera mujahideen

tere liye ae mere yaar yeh zindagi kaun nisaar
yeh dosti ka karz hai, yahi to mera farz hai
khud ko main fana karu to haq tera adaa karu
khud ko main fanaa karu, fanaa karu
ye sabse aladeen hai ye mera yakeen hai
dil ishq-e-fidaeen hai

tere liye mere kareem, fanaa ho jism ki zameen
yahi hai mera yakeen banu tera mujahideen
tere liye mere kareem, fanaa ho jism ki zameen
yahi hai mera yakeen banu tera mujahideen
tere liye mere kareem, fanaa ho jism ki zameen
yahi hai mera yakeen banu tera mujahideen
deen-e-haq tera



Lyrics in Hindi (Unicode) of "तेरे लिए मेरा करीम"

 
तेरे लिए मेरा करीम, फ़ना हो जिस्म की ज़मीन
यही हैं मेरा यकीन बनू तेरा मुजाहिदीन
दीन-ए-हक़ हैं तेरा दीन जानशीन जानशीन
तेरा दीन तेरा दीन
तू हसीं से हसीं, मैं हकीर से हकीर

तेरे लिए मेरा करीम, फ़ना हो जिस्म की ज़मीन
यही हैं मेरा यकीन बनू तेरा मुजाहिदीन
तेरे लिए मेरा करीम, फ़ना हो जिस्म की ज़मीन
यही हैं मेरा यकीन बनू तेरा मुजाहिदीन
तेरे लिए मेरा करीम, फ़ना हो जिस्म की ज़मीन
यही हैं मेरा यकीन बनू तेरा मुजाहिदीन

तेरे लिए ऐ मेरे यार ये ज़िन्दगी कौन निसार
ये दोस्ती का क़र्ज़ हैं, यही तो मेरा फ़र्ज़ हैं
खुद को मैं फ़ना करू तो हक़ तेरा अदा करू
खुद को मैं फ़ना करू, फ़ना करू
ये सबसे अलादीन हैं ये मेरा यकीन हैं
दिल इश्क-ए-फिदाईन हैं

तेरे लिए मेरा करीम, फ़ना हो जिस्म की ज़मीन
यही हैं मेरा यकीन बनू तेरा मुजाहिदीन
तेरे लिए मेरा करीम, फ़ना हो जिस्म की ज़मीन
यही हैं मेरा यकीन बनू तेरा मुजाहिदीन
तेरे लिए मेरा करीम, फ़ना हो जिस्म की ज़मीन
यही हैं मेरा यकीन बनू तेरा मुजाहिदीन
दीन-ए-हक़ तेरा

No comments:

Post a comment