21 February 2016

Lyrics Of "Lehron Pe Hai Zindagi" From Latest Album - Lehron Pe Hai Zindagi (2016)

Lehron Pe Hai Zindagi
Lehron Pe Hai Zindagi
A playful song sung by Jasraj Joshi, Aanandi Joshi featuring them in song video.

Singer: Jasraj Joshi, Aanandi Joshi
Music: Khalil Abhyankar
Lyrics: Khalil Abhyankar
Features: Jasraj Joshi, Aanandi Joshi





The video of this song is available on YouTube at the official channel Universal Music India. This video is of 4 minutes 23 seconds duration.

Lyrics of "Lehron Pe Hai Zindagi"


lehro pe hai zindagi, lehro pe hai zindagi
ajib si kahani hai, ajib si kahani hai
kuch pal bitenge yahi, kuch pal bitenge yahi
abhi jawan jawani hai, abhi jawan jawani hai
lehro pe hai zindagi

musibato ki aandhiya, mayusi ki barishe
musibato ki aandhiya, mayusi ki barishe
dhundla hoga rasta, na puri hogi khwahishe
dhundla hoga rasta, na puri hogi khwahishe
dur hai jo manzile hans ke unko paana hai
mushkile jo hai nayi unko aazmana hai
koshish karti zindagi, koshish karti zindagi
hasin ye nishani hai, hasin ye nishani hai
lehro pe hai zindagi

hauslo ki dhup me andhere gham ke kho gaye
hauslo ki dhup me andhere gham ke kho gaye
bekhudi ke chand me hum khushi se so gaye
bekhudi ke chand me hum khushi se so gaye
chahe din ya raat ho taaro ki barat ho
saari kaaynat me sirf apni baat ho
sapne dekhe zindagi, sapne dekhe zindagi
hasin ye nishani hai, hasin ye nishani hai
lehro pe hai zindagi
ajib si kahani hai, ajib si kahani hai
lehro pe hai zindagi


Lyrics in Hindi (Unicode) of "लहरों पे हैं ज़िन्दगी"


लहरों पे हैं ज़िन्दगी, लहरों पे हैं ज़िन्दगी
अजीब सी कहानी है, अजीब सी कहानी है
कुछ पल बीतेंगे यही, कुछ पल बीतेंगे यही
अभी जवाँ जवानी हैं, अभी जवाँ जवानी हैं
लहरों पे हैं ज़िन्दगी

मुसीबतों की आंधियाँ, मायूसी की वारिशे
मुसीबतों की आंधियाँ, मायूसी की वारिशे
धुंधला होगा रास्ता, ना पूरी होगी ख्वाहिशे
धुंधला होगा रास्ता, ना पूरी होगी ख्वाहिशे
दूर हैं जो मंजिले हंस के उनको पाना हैं
मुश्किलें जो हैं नयी उनको आज़माना हैं
कोशिश करती ज़िन्दगी, कोशिश करती ज़िन्दगी
हसीन ये निशानी हैं, हसीन ये निशानी हैं
लहरों पे हैं ज़िन्दगी

हौसलों की धुप में अँधेरे ग़म के खो गए
हौसलों की धुप में अँधेरे ग़म के खो गए
बेखुदी के चाँद में हम ख़ुशी से सो गए
बेखुदी के चाँद में हम ख़ुशी से सो गए
चाहे दिन या रात हो तारो की बारात हो
सारी कायनात में सिर्फ अपनी बात हो
सपने देखे ज़िन्दगी, सपने देखे ज़िन्दगी
हसीन ये निशानी हैं, हसीन ये निशानी हैं
लहरों पे हैं ज़िन्दगी
अजीब सी कहानी है, अजीब सी कहानी है
लहरों पे हैं ज़िन्दगी

No comments:

Post a comment