20 February 2016

Lyrics Of "Shabbo" From Latest Movie - Murari - The Mad Gentleman (2016)

Shabbo
Shabbo
An item song sung by Mamta Sharma, Amit Gupta featuring Sanjay Singh, Natalya Llina, Kiran Sharad.

Singer: Mamta Sharma, Amit Gupta
Music: Biswajeet Bhatcharjee
Lyrics: Krishan Bharadwaj
Star Cast: Sanjay Singh, Asrani, Natalya Llina, Surendra Rajan, Kiran Sharad, Yajuvendra Pratap Singh, Amitabh Acharya.



The video of this song is available on YouTube at the official channel  Red Ribbon Entertainment. This video is of 2 minutes 48 seconds duration. 



Lyrics of "Shabbo"


idhar gayi udhar gayi, aankhe meri jidhar gayi
idhar gayi udhar gayi, aankhe meri jidhar gayi
uske dil me laddu futa jispe meri nazar gayi
are uske dil me laddu futa jispe meri nazar gayi
ab to gali aur mauhallo me
ab to gali aur mauhallo me yahi baat chalegi
shabbo ki, shabbo ki
shabbo ki aankhe chalegi to londo ki saanse chalegi
shabbo ki aankhe chalegi to londo ki saanse chalegi

jaane kitne diwane rakh ke photo kitabo me padhte hai
meri shababi energy ko lekar buddhe pahado pe chadhte hai
jaane kitne diwane rakh ke photo kitabo me padhte hai
meri shababi energy ko lekar buddhe pahado pe chadhte hai
jaha jaha khabar gayi waha masti bikhar gayi
jaha jaha khabar gayi waha masti bikhar gayi
uske dil me laddu futa jispe meri nazar gayi
ab to gali aur mauhallo me
ab to gali aur mauhallo me yahi baat chalegi
shabbo ki, shabbo ki
shabbo ki aankhe chalegi to londo ki saanse chalegi
shabbo ki aankhe chalegi to londo ki saanse chalegi

yeh sach baat hai ki banaya mujhe allah miya ne fursat me
jannat ki aala huro ke hai saare maze meri kurbat me
yeh sach baat hai ki banaya mujhe allah miya ne fursat me
jannat ki aala huro ke hai saare maze meri kurbat me
thoda sa jo itar gayi dil pe dhake kahar gayi
thoda sa jo itar gayi dil pe dhake kahar gayi
uske dil me laddu futa jispe meri nazar gayi
ab to gali aur mauhallo me
ab to gali aur mauhallo me yahi baat chalegi chalegi
shabbo ki, shabbo ki
shabbo ki aankhe chalegi to londo ki saanse chalegi
shabbo ki aankhe chalegi to londo ki saanse chalegi

jaane kitne hi shayar rukh pe mere ghazale banate hai
kitne kuware to aise fida hai ki khwabo me shadi rachate hai
jaane kitne hi shayar rukh pe mere ghazale banate hai
kitne kuware to aise fida hai ki khwabo me shadi rachate hai
jisne mera khwaab liya mast raat guzar gayi
jisne mera khwaab liya mast raat guzar gayi
uske dil me laddu futa jispe meri nazar gayi
ab to gali aur mauhallo me
ab to gali aur mauhallo me yahi baat chalegi
shabbo ki, shabbo ki
shabbo ki aankhe chalegi to londo ki saanse chalegi
shabbo ki aankhe chalegi to londo ki saanse chalegi


Lyrics in Hindi (Unicode) of "शब्बो"


इधर गई उधर गई, आँखे मेरी जिधर गई
इधर गई उधर गई, आँखे मेरी जिधर गई
उसके दिल में लड्डू फूटा जिसपे मेरी नज़र गई
अरे उसके दिल में लड्डू फूटा जिसपे मेरी नज़र गई
अब तो गली और मौहल्लो में
अब तो गली और मौहल्लो में यही बात चलेगी
शब्बो की, शब्बो की
शब्बो की आँखे चलेगी तो लौंडो की साँसे चलेंगी
शब्बो की आँखे चलेगी तो लौंडो की साँसे चलेंगी

जाने कितने दीवाने रख के फोटो किताबो में पढ़ते हैं
मेरी शबाबी एनर्जी को लेकर बुड्ढे पहाड़ो पे चढ़ते हैं
जाने कितने दीवाने रख के फोटो किताबो में पढ़ते हैं
मेरी शबाबी एनर्जी को लेकर बुड्ढे पहाड़ो पे चढ़ते हैं
जहा जहा खबर गई वहा मस्ती बिखर गई
जहा जहा खबर गई वहा मस्ती बिखर गई
उसके दिल में लड्डू फूटा जिसपे मेरी नज़र गई
अब तो गली और मौहल्लो में
अब तो गली और मौहल्लो में यही बात चलेगी
शब्बो की, शब्बो की
शब्बो की आँखे चलेगी तो लौंडो की साँसे चलेंगी
शब्बो की आँखे चलेगी तो लौंडो की साँसे चलेंगी

ये सच बात हैं की बनाया मुझे अल्लाह मिया ने फुरसत में
जन्नत की आला हूरो के हैं सारे मज़े मेरी कुरबत में
ये सच बात हैं की बनाया मुझे अल्लाह मिया ने फुरसत में
जन्नत की आला हूरो के हैं सारे मज़े मेरी कुरबत में
थोडा सा जो इतर गई दिल पे ढाके कहर गई
थोडा सा जो इतर गई दिल पे ढाके कहर गई
उसके दिल में लड्डू फूटा जिसपे मेरी नज़र गई
अब तो गली और मौहल्लो में
अब तो गली और मौहल्लो में यही बात चलेगी
शब्बो की, शब्बो की
शब्बो की आँखे चलेगी तो लौंडो की साँसे चलेंगी
शब्बो की आँखे चलेगी तो लौंडो की साँसे चलेंगी

जाने कितने ही शायर रुख पे मेरे ग़ज़ले बनाते हैं
कितने कुवारे तो ऐसे फ़िदा हैं की ख्वाबो में शादी रचाते हैं
जाने कितने ही शायर रुख पे मेरे ग़ज़ले बनाते हैं
कितने कुवारे तो ऐसे फ़िदा हैं की ख्वाबो में शादी रचाते हैं
जिसने मेरा ख्वाब लिया मस्त रात गुज़र गई
जिसने मेरा ख्वाब लिया मस्त रात गुज़र गई
उसके दिल में लड्डू फूटा जिसपे मेरी नज़र गई
अब तो गली और मौहल्लो में
अब तो गली और मौहल्लो में यही बात चलेगी
शब्बो की, शब्बो की
शब्बो की आँखे चलेगी तो लौंडो की साँसे चलेंगी
शब्बो की आँखे चलेगी तो लौंडो की साँसे चलेंगी

No comments:

Post a comment