1 March 2016

Lyrics Of "Kaisi Yeh Pyaas Hai" From Latest Movie - Awesome Mausam (2016)

Kaisi Yeh Pyaas Hai
Kaisi Yeh Pyaas Hai
Nice romantic song in the voice of Priya Bhattacharya, KK featuring Rahul Sharma, Ambalika Sarkar.

Singer: Priya Bhattacharya, KK
Music: Ishan Ghosh
Lyrics: Yogesh Bhardwaj
Star Cast: Mukesh Tiwari, Suhasni Muley, Rahul Sharma, Ambalika Sarkar.



The video of this song is available on YouTube at the official channel  T-Series. This video is of 2 minutes 19 seconds duration. 



Lyrics of "Kaisi Yeh Pyaas Hai"


you are only one whom i love
you are my sunshine, i always love you
kaisi yeh pyaas hai, kaisi hai talab
dil ke dhadakne ka kya hai sabab
kaisi yeh pyaas hai, kaisi hai talab
dil ke dhadakne ka kya hai sabab
aadat me hai meri teri ek jhalak
dil ke dhadakne ka kya hai sabab

you are only one whom i love
you are my sunshine, i always love you
love you, i love you
yaado me teri khoya rehta hu
tujhko hi chahu main hoke bekarar
lafzo me mere sirf tu hi tu
tu duaao me basi, tu hi mera pyaar
tu hi to dikhti hai mujhko har taraf
dil ke dhadakne ka kya hai sabab

lumha dar lumha mai tujhme kho gayi
aankhe jagti hai ab ninde so gayi
aata nahi is dil ko karaar
mil ke bhi rahta hai tera intezar
tu hi mera aagaz hai, tu hi mera anjaam hai
sab me tu dikhta hai mujhko kyu alag
dil ke dhadakne ka kya hain sabab
kaisi yeh pyaas hai, kaisi hai talab
dil ke dhadakne ka kya hai sabab
aadat me hai meri teri ek jhalak
dil ke dhadakne ka kya hai sabab



Lyrics in Hindi (Unicode) of "कैसी यह प्यास है"


यू आर ओनली वन हूम आय लव
यू आर माय सनशाइन, आई ऑलवेज लव यू
कैसी ये प्यास है, कैसी हैं तलब
दिल के धड़कने का क्या हैं सबब
कैसी ये प्यास है, कैसी हैं तलब
दिल के धड़कने का क्या हैं सबब
आदत में हैं मेरी तेरी इक झलक
दिल के धड़कने का क्या हैं सबब

यू आर ओनली वन हूम आय लव
यू आर माय सनशाइन, आई ऑलवेज लव यू
लव यू, आई लव यू
यादों में तेरी खोया रहता हूँ
तुझको ही चाहूँ मैं होके बेक़रार
लफ़्ज़ों में मेरे सिर्फ तू ही तू
तू दुआओ में बसी, तू ही मेरा प्यार
तू ही तो दिखती हैं मुझको हर तरफ
दिल के धड़कने का क्या हैं सबब

लम्हा दर लम्हा मैं तुझमे खो गयी
आँखे जागती है अब नींदें सो गयी
आता नहीं इस दिल को करार
मिल के भी रहता है तेरा इंतज़ार
तू ही मेरा आगाज़ है, तू ही मेरा अंजाम है
सब में तू दिखता है मुझको क्यों अलग
दिल के धड़कने का क्या हैं सबब
कैसी यह प्यास है, कैसी हैं तलब
दिल के धड़कने का क्या हैं सबब
आदत में हैं मेरी तेरी इक झलक
दिल के धड़कने का क्या हैं सबब

No comments:

Post a comment