22 June 2016

Lyrics Of "Crazy Dil (Sonu Nigam)" From Latest Album - Crazy Dil (2016)

Crazy Dil (Sonu Nigam)
Crazy Dil (Sonu Nigam)
A happy song sung, composed and written by Sonu Nigam featuring him and Farah Khan, Rajkumar Hirani, Kailash Kher, Sunil Grover, Natalie Di Luccio, Nevaan Nigam.

Singer: Sonu Nigam
Music: Sonu Nigam
Lyrics: Sonu Nigam
Features: Sonu Nigam, Farah Khan, Rajkumar Hirani, Kailash Kher, Sunil Grover, Natalie Di Luccio, Nevaan Nigam.

The video of this song is available on YouTube at the official channel Being Indian Music. This video is of 6 minutes 03 seconds duration.


Lyrics of "Crazy Dil (Sonu Nigam)"


aaine ke saamne main hu sochta, kya hota jo tu hoti yaha
tujhko roz sajte sanverte me dekhta, sach hota khwabo ka jaha
khwabo ka jaha rahe tu waha, main maze me hu na jaga na na
crazy dil mera crazy hai tera, main maze me hu na jaga na na
crazy dil mera crazy hai tera, main maze me hu na jaga na na
crazy dil mera, crazy hai tera

neendo ki galiyo me yu muskaru me, jaise deewana koi
mehfil me bheed me khoya rahu main jaise, majnu ka nana koi
neendo ki galiyo me yu muskaru main, jaise deewana koi
mehfil me bheed me khoya rahu main jaise, majnu ka nana koi
majnu ka nana cupid ka nishana main maze me hu na jaga na na
crazy dil mera crazy hai tera, main maze me hu na jaga na na
na na na na na na na na na

apni hi baat pe khil khilaye jo tu, aankhe bhar aaye meri
aur itni si baat pe, mooh fulaye to mere hoto pe aaye hasi
apni hi baat pe khil khilaye jo tu, aankhe bhar aaye meri
aur itni si baat pe, mooh fulaye to mere hoto pe aaye hasi
ban gya hun drama aadami se pajama, main maze me hu na jaga na na
crazy dil mera crazy hai tera, main maze me hu na jaga na na
na na na na
crazy hai tera, me maze me hu na jaga na na
na na na na na na na



Lyrics in Hindi (Unicode) of "क्रेजी दिल (सोनू निगम)"


आइना के सामने मैं हु सोचता, क्या होता जो तू होती यहाँ
तुझको रोज़ सजते संसरते में देखता, सच होता ख्वाबो का जहा
ख्वाबो का जहा रहे तू वहा, मैं मज़े में हु ना जगा ना ना
क्रेजी दिल मेरा क्रेजी है तेरा, मैं मज़े में हु ना जगा ना ना
क्रेजी दिल मेरा क्रेजी है तेरा, मैं मज़े में हु ना जगा ना ना
क्रेजी दिल मेरा, क्रेजी है तेरा

नींदों की गलियों में यु मुस्कारू में, जैसे दीवाना कोई
महफ़िल में भीड़ में खोया रहू मैं जैसे, मजनू का नाना कोई
नींदों की गलियों में यु मुस्कारू में, जैसे दीवाना कोई
महफ़िल में भीड़ में खोया रहू मैं जैसे, मजनू का नाना कोई
मजनू का नाना क्यूपिड का निशाना मैं मज़े में हु ना जगा ना ना
क्रेजी दिल मेरा क्रेजी है तेरा, मैं मज़े में हु ना जगा ना ना
ना ना ना ना ना ना ना ना ना

अपनी ही बात पे खिल खिलाये जो तू, आँखे भर आये मेरी
और इतनी सी बात पे, मूह फुलाए तो मेरे होता पे आये हसी
अपनी ही बात पे खिल खिलाये जो तू, आँखे भर आये मेरी
और इतनी सी बात पे, मूह फुलाए तो मेरे होता पे आये हसी
बन गया हूँ ड्रामा आदमी से पजामा, मैं मज़े में हु ना जगा ना ना
क्रेजी दिल मेरा क्रेजी है तेरा, मैं मज़े में हु ना जगा ना ना
ना ना ना ना
क्रेजी है तेरा, मैं मज़े में हु ना जगा ना ना
ना ना ना ना ना ना ना ना ना

No comments:

Post a comment