20 June 2016

Lyrics Of "Keh Bhee De" From Latest Movie - Traffic (2016).

Keh Bhee De
Keh Bhee De
An emotional song sung by Palak Muchhal, Benny Dayal and music composed by Mithoon.

Singer: Palak Muchhal, Benny Dayal
Music: Mithoon
Lyrics: Turaz
Star Cast: Manoj Bajpayee, Jimmy Sheirgill, Ulka Gupta, Vishaal Singh, Divya Dutta, Prosenjit Chatterjee, Sachin Khedekar, Kitu Gidwani, Vikram Gokhale.


The video of this song is available on YouTube at the official channel Zee Music Company. This video is of 2 minutes 41 seconds duration.

Lyrics of "Keh Bhee De"


keh bhi de tere dil me jo hai, ha tu keh bhi de aye zindagi
hasrate laayi jo dhundh ke, tu ise rakh bhi le ab yahi

keh bhi de tere dil me jo hai, ha tu keh bhi de aye zindagi
hasrate laayi jo dhundh ke, tu ise rakh bhi le ab yahi
in khwahisho me kitne armaan hai chhupe
khwaabo ne jo basaaye woh jahaan hai chhupe

ankahe lafz hai, kaise bole zubaan
meri khamoshiya hi hain mera bayaan
hai yeh ehsaas ke tu mere rubaru
zindagani meri mujhse kar guftagu
saari farmaayishe hai tere waaste
mod de mere dil ki taraf tu raaste
aa bhi jaa, aankho se meri tu guzar jaa zara
keh bhi de tere dil me jo hai, ha tu keh bhi de aye zindagi
hasrate laayi jo dhundh ke, tu ise rakh bhi le ab yahi

is jagah aa gayi hai meri chahate
zikra deta hai tera mujhe raahate
faasla darmiya rooh ka mitne laga
kurbato se teri main lipatne laga
ab yahi hai junun ke tujhse main milu
umra bhar ab inhi raasto par main chalu
meharbaan, dil ko sukun hai tujhi se mila
keh bhi de tere dil me jo hai, ha tu keh bhi de aye zindagi
hasrate laayi jo dhundh ke, tu ise rakh bhi le ab yahi

ab so bhi jaa, yeh dil mera mujhse kahe
mujhe khwaab ki aagosh me rab se kahe
ab so bhi jaa, yeh dil mera mujhse kahe
mujhe khwaab ki aagosh me rab se kahe



Lyrics in Hindi (Unicode) of "कह भी दे"


कह भी दे तेरे दिल में जो हैं, हाँ तू कह भी दे ए ज़िन्दगी
हसरते लाई जो ढूंढ के, तू इसे रख भी ले अब यही

कह भी दे तेरे दिल में जो हैं, हाँ तू कह भी दे ए ज़िन्दगी
हसरते लाई जो ढूंढ के, तू इसे रख भी ले अब यही
इन ख्वाहिशो में कितने अरमान हैं छुपे
ख्वाबो ने जो बसाए वो जहान हैं छुपे

अनकहे लफ्ज़ हैं, कैसे बोले जुबान
मेरी खामोशियाँ ही हैं मेरा बयान
हैं यही एहसास के तू मेरे रूबरू
जिंदगानी मेरी मुझसे कर गुफ्तगू
सारी फरमाईशे हैं तेरे वास्ते
मोड़ दे मेरे दिल की तरफ तू रास्ते
आ भी जा, आँखों से मेरी तू गुज़र जा ज़रा
कह भी दे तेरे दिल में जो हैं, हाँ तू कह भी दे ए ज़िन्दगी
हसरते लाई जो ढूंढ के, तू इसे रख भी ले अब यही

इस जगह आ गई हैं मेरी चाहते
ज़िक्र देता हैं तेरा मुझे राहते
फासला दरमियाँ रूह का मिटने लगा
कुरबतों से तेरी मैं लिपटने लगा
अब यही हैं जूनून के तुझसे मैं मिलु
उम्र भर अब इन्ही रास्तो पर मैं चलू
मेहरबान, दिल को सुकून हैं तुझी से मिला
कह भी दे तेरे दिल में जो हैं, हाँ तू कह भी दे ए ज़िन्दगी
हसरते लाई जो ढूंढ के, तू इसे रख भी ले अब यही

अब सो भी जा, ये दिल मेरा मुझसे कहे
मुझे ख्वाब की आगोश में रब से कहे
अब सो भी जा, ये दिल मेरा मुझसे कहे
मुझे ख्वाब की आगोश में रब से कहे

No comments:

Post a comment