17 June 2016

Lyrics Of "Tu Hi Na Jane" From Latest Movie - Azhar (2016)

Tu Hi Na Jane
Tu Hi Na Jane
A playful song sung by Sonu Nigam, Prakriti Kakkar featuring Nargis Fakhri, Emraan Hashmi, Prachi Desai.

Singer: Sonu Nigam, Prakriti Kakkar
Music: Amaal Malik
Lyrics: Kumaar
Star Cast: Emraan Hashmi, Prachi Desai, Nargis Fakhri, Lara Dutta, Kulbhushan Kharbanda, Karan Sharma, Gautam Gulati, Karanvir Sharma, Manjot Singh, Kunaal Roy Kapur.

The video of this song is available on YouTube at the official channel T-Series. This video is of 3 minutes 32 seconds duration.

Lyrics of "Tu Hi Na Jane"


samandar se zyada meri aankho me aansu
jaane ye khuda bhi hai aisa kyun
samandar se zyada meri aankho me aansu
jaane ye khuda bhi hai aisa kyun
tujhko hi aaye na khayal mera
patta patta jaanta hai, ik tu hi na jaane haal mera
patta patta jaanta hai, ik tu hi na jaane haal mera

nitdin nitdin roiya main, sonh rabb di na soiya main
ik tere piche maahi saavan diya rutta khoiya main
nitdin nitdin roiya main, sonh rabb di na soiya main
ik tere piche maahi saavan diya rutta khoiya main
dil ne dhadkano ko hi tod diya, tuta hua sine me chhod diya
dil ne dhadkano ko hi tod diya, tuta hua sine me chhod diya
khushiya le gaya, dard kitne de gaya ye pyaar tera
patta patta jaanta hai, ik tu hi na jaane haal mera
patta patta jaanta hai, ik tu hi na jaane haal mera

mere hisse aayi teri parchhaaiya
likhi thi lakiro me tanhaaiya
ha mere hisse aayi teri parchhaaiya
likhi thi lakiro me tanhaaiya
ha karu tujhe yaad mai, hai tere baad intezaar tera
patta patta jaanta hai, ik tu hi na jaane haal mera
patta patta jaanta hai, ik tu hi na jaane haal mera
haal mera, haal mera


Lyrics in Hindi (Unicode) of "तू ही ना जाने"


समंदर से ज्यादा मेरी आँखों में आंसू
जाने ये खुदा भी हैं ऐसा क्यूँ
समंदर से ज्यादा मेरी आँखों में आंसू
जाने ये खुदा भी हैं ऐसा क्यूँ
तुझको ही आये ना खयाल मेरा
पत्ता पत्ता जानता हैं, इक तू ही ना जाने हाल मेरा
पत्ता पत्ता जानता हैं, इक तू ही ना जाने हाल मेरा

नितदिन नितदिन रोइयाँ मैं, सोंह रब दी ना सोइयाँ मैं
इक तेरे पीछे माही सावन दिया रुत्तां खोइयाँ मैं
नितदिन नितदिन रोइयाँ मैं, सोंह रब दी ना सोइयाँ मैं
इक तेरे पीछे माही सावन दिया रुत्तां खोइयाँ मैं
दिल ने धडकनों को ही तोड़ दिया, टुटा हुआ सीने में छोड़ दिया
दिल ने धडकनों को ही तोड़ दिया, टुटा हुआ सीने में छोड़ दिया
खुशियाँ ले गया, दर्द कितने दे गया ये प्यार तेरा
पत्ता पत्ता जानता हैं, इक तू ही ना जाने हाल मेरा
पत्ता पत्ता जानता हैं, इक तू ही ना जाने हाल मेरा

मेरे हिस्से आई तेरी परछाइयाँ
लिखी थी लकीरों में तन्हाईयाँ
हाँ मेरे हिस्से आई तेरी परछाइयाँ
लिखी थी लकीरों में तन्हाईयाँ
हाँ करू तुझे याद मैं, हैं तेरे बाद इंतज़ार तेरा
पत्ता पत्ता जानता हैं, इक तू ही ना जाने हाल मेरा
पत्ता पत्ता जानता हैं, इक तू ही ना जाने हाल मेरा
हाल मेरा, हाल मेरा

No comments:

Post a comment