10 July 2016

Lyrics Of "Besambhle" From Latest Movie - Fever (2016).

Besambhle
Besambhle
A pop song sung by Arijit Singh starring Rajeev Khandelwal, Gauhar Khan, Gemma Atkinson and Caterina Murino.

Singer: Arijit Singh
Music: N/A
Lyrics: N/A
Star Cast: Rajeev Khandelwal, Gauahar Khan, Gemma Atkinson, Caterina Murino, Victor Bannerjee.


Lyrics of "Besambhle"


besambhle chal diya dil aise halaat me
tera saath chahiye mujhko is kaali raat me
besambhle chal diya dil aise halaat me
tera saath chahiye mujhko is kaali raat me
kahaani meri hai tu, zinda mujhi se hai tu
kab hogi mujhko haasil tu, bas ek mere kaabil tu
tera ruaan ruaan ruaan kaatil
fever tera chadha hai, dil tuta pada hai, de de davaa
fever tera chadha hai, dil tuta pada hai, de de davaa

tu nishani hai khone ki mere yaara, kaise milu dubara
teri nigrani hai saanso pe mere yaara, kaise jiya mai
besambhle chal diya dil aise halaat me
tera saath chahiye mujhko is kaali raat me
kahaani meri hai tu, zinda mujhi se hai tu

besambhle chal diya dil aise halaat me
tera saath chahiye mujhko is kaali raat me
fever tera chadha hai, dil tuta pada hai, de de davaa
fever tera chadha hai, dil tuta pada hai, de de davaa

tu anjani thi, teri nazar me tujhko, hua kya mujhko
meri nadaani thi, thehra tujhpe aake to jaau kaha pe
besambhle chal diya dil aise halaat me
tera saath chahiye mujhko is kaali raat me
kahaani meri hai tu, zinda mujhi se hai tu
kab hogi mujhko haasil tu, bas ek mere kaabil tu
tera ruaan ruaan ruaan kaatil


Lyrics in Hindi (Unicode) of "बेसंभले"


बेसंभले चल दिया दिल ऐसे हालात में
तेरा साथ चाहिए मुझको इस काली रात में
बेसंभले चल दिया दिल ऐसे हालात में
तेरा साथ चाहिए मुझको इस काली रात में
कहानी मेरी हैं तू, जिंदा मुझी से हैं तू
कब होगी मुझको हासिल तू, बस एक मेरे काबिल तू
तेरा रुआं रुआं रुआं कातिल
फीवर तेरा चढ़ा हैं, दिल टुटा पड़ा हैं, दे दे दवा
फीवर तेरा चढ़ा हैं, दिल टुटा पड़ा हैं, दे दे दवा

तू निशानी हैं खोने की मेरे यारा, कैसे मिलु दोबारा
तेरी निगरानी हैं साँसों पे मेरे यारा, कैसे जिया मैं
बेसंभले चल दिया दिल ऐसे हालात में
तेरा साथ चाहिए मुझको इस काली रात में
कहानी मेरी हैं तू, जिंदा मुझी से हैं तू

बेसंभले चल दिया दिल ऐसे हालात में
तेरा साथ चाहिए मुझको इस काली रात में
फीवर तेरा चढ़ा हैं, दिल टुटा पड़ा हैं, दे दे दवा
फीवर तेरा चढ़ा हैं, दिल टुटा पड़ा हैं, दे दे दवा

तू अनजानी थी, तेरी नज़र में तुझको, हुआ क्या मुझको
मेरी नादानी थी, ठहरा तुझपे आके तो जाऊ कहाँ पे
बेसंभले चल दिया दिल ऐसे हालात में
तेरा साथ चाहिए मुझको इस काली रात में
कहानी मेरी हैं तू, जिंदा मुझी से हैं तू
कब होगी मुझको हासिल तू, बस एक मेरे काबिल तू
तेरा रुआं रुआं रुआं कातिल

No comments:

Post a comment