23 July 2016

Lyrics Of "Dama Dama Dam" From Latest Movie - Madaari (2016)

Dama Dama Dam
Dama Dama Dam
A pop song sung by Vishal Dadlani featuring Master Vishesh Bansal, Jimmy Sheirgill, Irrfan Khan.

Singer: Vishal Dadlani
Music: Vishal Bhardwaj
Lyrics: Irshad Kamil
Star Cast: Irrfan Khan, Jimmy Sheirgill, Tushar Dalvi, Master Vishesh Bansal, Nitesh Pandey.





The video of this song is available on YouTube at the official channel T-Series. This video is of 2 minutes 51 seconds duration.

Lyrics of "Dama Dama Dam"


dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam doo
dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam doo
o dil ki baate dil hi jaane, ulajh gaye hai taane baane
chal ab theke yaa phir thaane tu
dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam doo
arre sach sadko pe nanga naache
jhuth ke hai delhi ke khache, sun le o mehbuba ke chachu
dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam doo
dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam doo

ae anpadh baitha shikhsha baante
dharam dilo me boye kaante, roti maango milte chaate re
baith baith santo ki godi, bina teil ke janta dhodi
delhi baitha bada virodhi re
arre janta ke sang wohi jhol hai
pichhwade me wohi poll hai, bahumat jhutha naaptol hai re
aani bani dani rani, in sabne hai milkar thaani
bech ke bharat maa khaa jaani re
dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam doo
dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam doo

jaise pehle lagi padi thi, waise ab bhi lagi padi hai
yeh raja bhi nira lomdi hai
lal kille ka haal wahi hai, pejama koi pehan khada tha
koi saadi pehan khadi hai re
jaise pehle lagi padi thi, waise ab bhi lagi padi hai
yeh raja bhi nira lomdi hai
fata fata fat gussa karke, mila mila wat manne bharke
fata fata fat gussa karke, mila mila wat manne bharke
bana banawat kar ke bairi tu
ho sach banda bhuka mar gaya, tera chamcha kheti jhar gaya
sansad baitha khaave cherry tu, khaave cherry tu
sansad baitha khaave cherry tu
dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam doo
dama dama dam dam dam dam, dama dama dam dam dam dam
dama dama dam dam dam dam doo
dil ki baate dil hi jaane, ulajh gaye hai taane baane
chal ab theke yaa phir thaane tu
sach sadko pe nanga naache
jhuth ke hai delhi ke khache, sun le o mehbuba ke chachu


Lyrics in Hindi (Unicode) of "डमा डमा डम"


डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम डू
डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम डू
ओ दिल की बाते दिल ही जाने, उलझ गए हैं ताने बाने
चल अब ठेके या फिर ठाणे तू
डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम डू
अरे सच सडको पे नंगा नाचे
झूठ के हैं दिल्ली के खांचे, सुन ले ओ महबूबा के चाचू
डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम डू
डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम डू

ऐ अनपढ़ बैठा शिक्षा बाँटे
धरम दिलो में बोये कांटे, रोटी मांगो मिलते चांटे रे
बैठ बैठ संतो की गोदी, बिना तेल के जनता धोदी
दिल्ली बैठा बड़ा विरोधी रे
अरे जनता के संग वही झोल हैं
पिछवाड़े में वही पोल हैं, बहुमत झूठा नापतोल हैं रे
आनी बानी दानी रानी, इन सबने हैं मिलकर ठानी
बेच के भारत माँ खा जानी रे
डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम डू
डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम डू

जैसे पहले लगी पड़ी थी, वैसे अब भी लगी पड़ी हैं
ये राजा भी नीरा लोमड़ी हैं
लाल किले का हाल वही हैं, पैजामा कोई पहन खड़ा था
कोई साडी पहन खड़ी हैं रे
जैसे पहले लगी पड़ी थी, वैसे अब भी लगी पड़ी हैं
ये राजा भी नीरा लोमड़ी हैं
फटा फटा फट गुस्सा करके, मिला मिला वट मन्ने भरके
फटा फटा फट गुस्सा करके, मिला मिला वट मन्ने भरके
बना बनावट कर के बैरी तू
हो सच बंदा भूका मर गया, तेरा चमचा खेती झर गया
संसद बैठा खावे चेरी तू, खावे चेरी तू
संसद बैठा खावे चेरी तू
डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम डू
डमा डमा डम डम डम डम, डमा डमा डम डम डम डम
डमा डमा डम डम डम डम डू
दिल की बाते दिल ही जाने, उलझ गए हैं ताने बाने
चल अब ठेके या फिर ठाणे तू
सच सडको पे नंगा नाचे
झूठ के हैं दिल्ली के खांचे, सुन ले ओ महबूबा के चाचू

No comments:

Post a comment