4 August 2016

Lyrics Of "Aankh Pe Chashma Daal Ke" From Latest Movie - Babuji Ek Ticket Bambai (2016)

Aankh Pe Chashma Daal Ke
Aankh Pe Chashma Daal Ke
An item song sung by Mamta Sharma featuring Rajpal Yadav, Bharti Sharma.

Singer: Mamta Sharma
Music: Nikhil Kamat
Lyrics: Kumaar
Star Cast: Rajpal Yadav, Bharti Sharma, Sudha Chandran, Yashpal Sharma, Mushtaq Khan, Milind Gunaji, Raghuveer Yadav, Ehsaan Khan.



The video of this song is available on YouTube at the official channel T-Series. This video is of 2 minutes 00 seconds duration.



Lyrics of "Aankh Pe Chashma Daal Ke"


hey aankh pe chashma daal ke nikli jo bhopal se
aankh pe chashma daal ke nikli jo bhopal se
patte watte jhad gaye aashiko ki daal se
jadu tona karke sine me utar ke, hila du dilo ke pillar babuji
hai look meri killer o babuji, hai look meri killer o babuji
hai look meri killer o babuji, hai look meri killer o babuji

o mujhpe nigahe to freeze ho jaati hai
dilo ki dhadkane increase ho jaati hai
o mujhpe nigahe to freeze ho jaati hai
dilo ki dhadkane increase ho jaati hai
jiske bhi khwabo me aati hu main
raato me nind uski freez ho jaati hai
chhape hai ye parche, hote hai ye charche
ki hatke hai mera figar babuji
hai look meri, o look meri
hai look meri killer o babuji, hai look meri killer o babuji
hai look meri killer o babuji, hai look meri killer o babuji

mujhko diwane to sweety pie kehte hai
milte hai mujhko to hello hi kehte hai
mujhko diwane to sweety pie kehte hai
milte hai mujhko to hello hi kehte hai
shehar ke aashiq mere liye subah se shaam tak hi fi rehte hai
gaao ke kuware tadpe hai saare, ab harpal mera hi zikr babuji
hai look meri killer o babuji, hai look meri killer o babuji
hai look meri killer o babuji, hai look meri killer o babuji


Lyrics in Hindi (Unicode) of "आँख पे चश्मा डाल के"


हे आँख पे चश्मा डाल के निकली जो भोपाल से
आँख पे चश्मा डाल के निकली जो भोपाल से
पत्ते वत्ते झड गए आशिको की डाल से
जादू टोना करके सीने में उतर के, हिला दू दिलो के पिल्लर बाबूजी
हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी, हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी
हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी, हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी

ओ मुझपे निगाहें तो फ्रीज हो जाती हैं
दिलो की धड़कने इनक्रीस हो जाती हैं
ओ मुझपे निगाहें तो फ्रीज हो जाती हैं
दिलो की धड़कने इनक्रीस हो जाती हैं
जिसके भी ख्वाबो में आती हूँ मैं
रातो में नींद उसकी फ्रीज़ हो जाती हैं
छपे हैं ये पर्चे, होते हैं ये चर्चे
की हटके हैं मेरा फिगर बाबूजी
हैं लुक मेरी, ओ लुक मेरी
हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी, हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी
हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी, हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी

मुझको दीवाने तो स्वीटी पाई कहते हैं
मिलते हैं मुझको तो हेल्लो हाय कहते हैं
मुझको दीवाने तो स्वीटी पाई कहते हैं
मिलते हैं मुझको तो हेल्लो हाय कहते हैं
शहर के आशिक मेरे लिए सुबह से शाम तक हाय फाय रहते हैं
गाँव के कुंवारे तडपे हैं सारे, अब हरपल मेरा ही ज़िक्र बाबूजी
हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी, हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी
हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी, हैं लुक मेरी किलर ओ बाबूजी

No comments:

Post a comment