24 April 2015

Lyrics Of "Teri Meri Baatein" From Latest Movie - Piku (2015)

Teri Meri Baatein
Teri Meri Baatein
Lyrics Of Teri Meri Baatein From Piku (2015): A love song sung by Anupam Roy featuring Deepika Padukone, Amitabh Bachchan & Irfan Khan.

Singer: Anupam Roy
Music: Anupam Roy
Lyrics: Anupam Roy
Star Cast: Deepika Padukone, Amitabh Bachchan, Irfan Khan.



The video of this song is available on youtube at the official channel Zee Music Company. This video is of 2 minutes 52 seconds duration.



Lyrics of "Teri Meri Baatein"


aankhon ki nami haan teri meherbaani hai
thodi si ummeedon se aage aisi kahaani hai
aanchal jo udaa haan teri meherbaani hai
thodi si ummeedon se aage aisi kahaani hai
leharon se hai, saagar se gehri bhi hai
ye teri meri baatein
rulaati bhi hain, gham mein hansati bhi hai
ye teri meri baatein, ye teri meri baatein

har saans sunaati hai tera hi naam
palko ke chaaon mein do pal ka aaraam
kacche ye dhaage hain, kacche hain rang
chhu loon toh jee bhi loon kuch tere sang
leharon se hai, saagar se gehri bhi hain
ye teri meri baatein
rulaati bhi hain, gham mein hansati bhi hai
ye teri meri baatein, ye teri meri baatein

main neend bulaata hoon, haatho mein haath
chaadar ke kone mein reh jaati baat
khwabon ki nishaani hai aasmaan ke paar
jis raat ke seene mein chhalka hai pyaar
aankhon ki nami haan teri meherbaani hai
thodi si ummeedon se aage aisi kahaani hai
aanchal jo udaa haan teri meharbaani hai
thodi si ummeedon se aage aisi kahaani hai
leheron se hai, saagar se gehri bhi hai
ye teri meri baatein
rulaati bhi hain, gham mein hansati bhi hai
ye teri meri baatein, ye teri meri baatein

Lyrics in Hindi (Unicode) of "ये तेरी मेरी बातें"


आँखों की नमी हाँ तेरी मेहरबानी हैं
थोड़ी सी उम्मीदों से आगे ऐसी कहानी हैं
आँचल जो उड़ा हाँ तेरी मेहरबानी हैं
थोड़ी सी उम्मीदों से आगे ऐसी कहानी हैं
लहरों से हैं, सागर से गहरी भी हैं
ये तेरी मेरी बातें
रुलाती भी हैं, ग़म मे हँसाती भी हैं
ये तेरी मेरी बातें, ये तेरी मेरी बातें

हर साँस सुनाती हैं तेरा ही नाम
पलको के छाओं मे दो पल का आराम
कच्चे ये धागे हैं, कच्चे हैं रंग
छू लूँ तो जी भी लूँ कुछ तेरे संग
लहरों से हैं, सागर से गहरी भी हैं
ये तेरी मेरी बातें
रुलाती भी हैं, ग़म मे हँसाती भी हैं
ये तेरी मेरी बातें, ये तेरी मेरी बातें

मैं नींद बुलाता हूँ, हाथों मे हाथ
चादर के कोने मे रह जाती बात
ख्वाबो की निशानी हैं आसमान के पार
जिस रात के सीने मे छलका हैं प्यार
आँखों की नमी हाँ तेरी मेहरबानी हैं
थोड़ी सी उम्मीदों से आगे ऐसी कहानी हैं
आँचल जो उड़ा हाँ तेरी मेहरबानी हैं
थोड़ी सी उम्मीदों से आगे ऐसी कहानी हैं
लहरों से हैं, सागर से गहरी भी हैं
ये तेरी मेरी बातें
रुलाती भी हैं, ग़म मे हँसाती भी हैं
ये तेरी मेरी बातें, ये तेरी मेरी बातें

No comments:

Post a comment