29 June 2015

Lyrics Of "Chal Pade Hum" From Movie - Satrangee Parachute (2011)

Chal Pade Hum
Chal Pade Hum
Lyrics Of Chal Pade Hum From Movie - Satrangee Parachute (2011):  A Inspirational song sung by Shaan and the Music has been composed by Kaushik Dutta.

Singer: Shaan
Music: Kaushik Dutta
Lyrics: Rajeev Barnwal
Star Cast: Jackie Shroff, Kay Kay Menon, Zakir Hussain, Rajpal Yadav, Rupali Ganguly



The Audio of this song is available on Youtube.







Lyrics of "Chal Pade Hum"



chal pade hum, kya thikaana socha nahi
manzil pata hai, rasta kaha socha nahi
bas chal diye zid hai yeh, aankho me sapne bhar liye
aage hi aage bas chal diye
chal pade hum, kya thikaana socha nahi
manzil pata hai, rasta kaha socha nahi

raste yeh saath chalte, tedhi medhi zindagi ke
yaade bhi hai purani, aane waale pal khushi ke
raste yeh saath chalte, tedhi medhi zindagi ke
yaade bhi hai purani, aane waale pal khushi ke
sochta hai mann yeh mera, aasmaan me udna chahe
chuna chahe chand taare sapne dekhe kitne saare
chalte chalte rukna kaha socha nahi
bas chal diye zid hai yeh, aankho me sapne bhar liye
aage hi aage bas chal diye

zindagi ke is safar me rang dekho kitne saare
khushiya chun lo jitni milti phir na honge yeh nazaare
zindagi ke is safar me rang dekho kitne saare
khushiya chun lo jitni milti phir na honge yeh nazaare
ashaaon ki dor pakde, mann me itna zor karle
muskura ke khil-khila ke, aandhi toofaan se guzar le
pankh mil gaye udnaa kaha socha nahi
behte behte thamna kahaan socha nahi
bas chal diye zid hai yeh, aankho me sapne bhar liye
aage hi aage bas chal diye
chal pade hum, kya thikaana socha nahi
manzil pata hai, rasta kaha socha nahi


Lyrics in Hindi (Unicode) of "चल पड़े हम"



चल पड़े हम, क्या ठिकाना सोचा नहीं
मंजिल पता है, रस्ता कहाँ सोचा नहीं
बस चल दिए जिद है ये, आँखों में सपने भर लिए
आगे ही आगे बस चल दिए
चल पड़े हम, क्या ठिकाना, सोचा नहीं
मंजिल पता है, रस्ता कहाँ, सोचा नहीं

रस्ते ये साथ चलते, टेढ़ी मेढ़ी जिंदगी के
यादें भी हैं पुरानी, आने वाले पल खुशी के
रस्ते ये साथ चलते, टेढ़ी मेढ़ी जिंदगी के
यादें भी हैं पुरानी, आने वाले पल खुशी के
सोचता है मन ये मेरा, आसमान में उड़ना चाहे
छूना चाहे चाँद तारे सपने देखे कितने सारे
चलते चलते रुकना कहाँ सोचा नहीं
बस चल दिए जिद है ये, आँखों में सपने भर लिए
आगे ही आगे बस चल दिए

जिंदगी के इस सफर में रंग देखो कितने सारे
खुशियाँ चूम लो जितनी मिलती फिर ना होंगे ये नज़ारे
जिंदगी के इस सफर में रंग देखो कितने सारे
खुशियाँ चूम लो जितनी मिलती फिर ना होंगे ये नज़ारे
आशाओं की डोर पकड़े, मन में इतना ज़ोर करले
मुस्कुरा के खिल-खिला के, आंधी तूफ़ान से गुज़र ले
पंख मिल गए, उड़ना कहाँ, सोचा नहीं
बहते बहते थमना कहाँ, सोचा नहीं
बस चल दिए जिद है ये, आँखों में सपने भर लिए
आगे ही आगे बस चल दिए
चल पड़े हम, क्या ठिकाना सोचा नहीं
मंजिल पता है, रस्ता कहाँ सोचा नहीं

No comments:

Post a comment