28 June 2015

Lyrics Of "Lal Lal Aag Hua" From Movie - Dus Tola (2010)

Lal Lal Aag Hua
Lal Lal Aag Hua
Lyrics Of Lal Lal Aag Hua From Movie - Dus Tola (2010): Playful song sung by Sukhwinder Singh & music composed by Sandesh Shandilya.

Singer: Sukhwinder Singh
Music: Sandesh Shandilya
Lyrics: Gulzar
Star Cast: Manoj Bajpayee, Aarti Chabria, Pallavi Sharda, Vidya Malvade, Brijendra Kala, Siddharth Makkar, Shiju Kataria, Bharti Achrekar.




Lyrics of "Lal Lal Aag Hua"


lal lal aag hua patha chanar ka
lal lal aag hua patha chanar ka
matti kumhar ki sona sunar ka
gin gin gin gin din din intezar ka intezar ka
lal lal aag hua patha chanar ka
ha lal lal aag hua patha chanar
matti kumhar ki sona sunar ka

reza reza palchin pal katne hai
hath ki lakeero ke bal chatne hai
reza reza palchin pal katne hai
ratti ratti masha masha tola hai na tolna hai
ratti ratti masha masha tola hai na tolna hai
ankhiyo me band hai vo palko se kholna hai
ankhiyo me band hai vo palko se kholna hai
ho lal lal aag me hai dana anar ka dana anar ka
ho lal lal aag hua patha chanar ka
matti kumhar ki sona sunar ka

hire ki kanni hai na panne ka pani
sone me soyegi gaav ki rani
hire ki kanni hai na panne ka pani
are jeeli jeeli jhugiyo me savan guzara
bund bund matke me bhaado utara
bund bund matke me bhaado utara
are inch inch ghumta hai
are inch inch ghumta hai
chakka intezar ka chakka intezar ka
matti kumhar ki sona sunar ka
gin gin gin gin din din intezar ka intezar ka
lal lal aag hua patha chanar ka
lal lal aag hua patha chanar ka
lal lal aag hua patha chanar ka
lal lal aag hua pttha chanar ka



Lyrics in Hindi (Unicode) of "लाल लाल आग हुआ"


लाल लाल आग हुआ पत्ता चनार का
लाल लाल आग हुआ पत्ता चनार का
माटी कुम्हार की सोना सुनार का
गिन गिन गिन गिन दिन दिन इन्तेजार का इन्तेजार का
लाल लाल आग हुआ पत्ता चनार का
हां लाल लाल आग हुआ पत्ता चनार का
माटी कुम्हार की सोना सुनार का

रेज़ा रेज़ा पलछिन पल काटने हैं
हाथ की लकीरों के बल चाटने हैं
रेज़ा रेज़ा पलछिन पल काटने हैं
रत्ती रत्ती माशा माशा तोला है ना टोलना हैं
रत्ती रत्ती माशा माशा तोला है ना टोलना हैं
अंखियो में बंद हैं वो पलको से खोलना हैं
अंखियो में बंद हैं वो पलको से खोलना हैं
हो लाल लाल आग में है दाना अनार का दाना अनार का
हो लाल लाल आग हुआ पत्ता चनार का
माटी कुम्हार की सोना सुनार का

हीरे की कन्नी हैं ना पन्ने का पानी
सोने में सोयेगी गाँव की रानी
हीरे की कन्नी हैं ना पन्ने का पानी
अरे जिल्ली जिल्ली जुगियो में सावन गुजारा
बूंद बूंद मटके मैं भादो उतारा
बूंद बूंद मटके मैं भादो उतारा
अरे इंच इंच घुमता हैं
अरे इंच इंच घुमता हैं
चक्का इन्तेजार का चक्का इन्तेजार का
माटी कुम्हार की सोना सुनार का
गिन गिन गिन गिन दिन दिन इन्तेजार का इन्तेजार का
लाल लाल आग हुआ पत्ता चनार का
लाल लाल आग हुआ पत्ता चनार का
लाल लाल आग हुआ पत्ता चनार का
लाल लाल आग हुआ पत्ता चनार का

No comments:

Post a comment