22 June 2015

Lyrics Of "Meetha Sa Ishq" From Movie - A Flat (2010)

Meetha Sa Ishq
Meetha Sa Ishq
Lyrics Of Meetha Sa Ishq From Movie - A Flat (2010): A sad love song in the voice of Kailash Kher, Suzanne D Mello featuring Sanjay Suri, Hazel Crowney, Jimmy Sheirgill, Kaveri Jha, Aindrita Ray

Music: Bappi Lahiri
Lyrics: Virag Mishra
Star Cast: Sanjay Suri, Aindrita Ray, Hazel Crowney, Sachin Khedekar, Jimmy Sheirgill, Nassar Abdulla, Kaveri Jha, Saurabh Dubey.



The video of this song is available on youtube at the official channel T-Series. This video is of 1 minutes 38 seconds duration.

Lyrics of "Meetha Sa Ishq"




mitha sa ishk lage kadvi judai
yar mera sacha lage juthi khudai
mitha sa ishk lage kadvi judai
yar mera sacha lage juthi khudai
chandani ne tan pe mere chadar bichayi
odha jo tune mujhko sans lot ayi
chandani ne tan pe mere chadar bichayi
odha jo tune mujhko sans lot ayi
ye alam hai ishk ishk alam hai
ye alam hai ishk ishk alam hai

mehandi ka rang jath se gahra gaya
ek pal me haye kya hua
paylo ka shor jane kaise tham gaya
ek pal me haye kya hua
man mane na kuch jane na bawra pankhuri sa ude
ye alam hai ishk ishk alam hai
ye alam hai ishk ishk alam hai

bole bina kitna kuch kah gaya
rat bhar mai sochta raha
ek masiha mujhko chukar gaya
kon tha mai dhundta raha
man mane na kuch jane na bawra pankhuri sa ude
ye alam hai ishk ishk alam hai
ye alam hai ishk ishk alam hai

mitha sa ishk lage kadvi judai
yar mera sacha lage juthi khudai
mitha sa ishk lage kadvi judai
yar mera sacha lage juthi khudai
chandani ne tan pe mere chadar bichayi
odha jo tune mujhko sans lot ayi
chandani ne tan pe mere chadar bichayi
odha jo tune mujhko sans lot ayi
ye alam hai ishk ishk alam hai
ye alam hai ishk ishk alam hai


Lyrics in Hindi (Unicode) of "मीठा सा इश्क"


मीठा सा इश्क लगे कडवी जुदाई
यार मेरा सच्चा लगे झूठी खुदाई
मीठा सा इश्क लगे कडवी जुदाई
यार मेरा सच्चा लगे झूठी खुदाई
चांदनी ने तन पे मेरे चादर बिछाई
ओढा जो तूने मुझको साँस लौट आई
चांदनी ने तन पे मेरे चादर बिछाई
ओढा जो तूने मुझको साँस लौट आई
ये आलम हैं इश्क इश्क आलम हैं
ये आलम हैं इश्क इश्क आलम हैं

मेहँदी का रंग जट से गहरा गया
इक पल में हाय क्या हुआ
पायलो का शोर जाने कैसे थम गया
इक पल में हाय क्या हुआ
मन माने ना कुछ जाने ना बांवरा पंखुरी सा उड़े
ये आलम हैं इश्क इश्क आलम हैं
ये आलम हैं इश्क इश्क आलम हैं

बोले बिना कितना कुछ कह गया
रात भर मैं सोचता रहा
इक मसीहा मुझको छूकर गया
कौन था मैं ढूंडता रह गया
मन माने ना कुछ जाने ना बांवरा पंखुरी सी उड़े
ताना ते ताना तिन ताना ताना
ताना ते ताना तिन ताना ताना
ये आलम हैं इश्क इश्क आलम हैं
ये आलम हैं इश्क इश्क आलम हैं

मीठा सा इश्क लगे कडवी जुदाई
यार मेरा सच्चा लगे झूठी खुदाई
मीठा सा इश्क लगे कडवी जुदाई
यार मेरा सच्चा लगे झूठी खुदाई
चांदनी ने तन पे मेरे चादर बिछाई
ओढा जो तूने मुझको साँस लौट आई
चांदनी ने तन पे मेरे चादर बिछाई
ओढा जो तूने मुझको साँस लौट आई
ये आलम हैं इश्क इश्क आलम हैं
ये आलम हैं इश्क इश्क आलम हैं

No comments:

Post a comment