15 June 2015

Lyrics Of " Rann Hain" From Movie - Rann (2010)

Rann Hain
Rann Hain
Lyrics Of  Rann Hain From Movie - Rann (2010): A rock song sung by Sanjeev Kohli & Lyrics penned by Sarim Momin.

Singer: Sanjeev Kohli
Music: Sanjeev Kohli
Lyrics: Sarim Momin
Star Cast: Amitabh Bachchan, Riteish Deshmukh, Sudeep, Paresh Rawal, Mohnish Behl, Rajat Kapoor, Neetu Chandra, Rajpal Yadav, Gul Panag.



 The audio of this song is available on youtube.

Lyrics of "Rann Hain"


yahaan reet yeh chali hai buri khabar phali hai
rakha hai jhut upar hakikatein dabi hain
insaan se pehle yahaan sach ki hai maut hoti
khabro me hai woh taakat talwaar me hi jyoti
galati ka maut dand hai
galati ka maut dand hai
rann hai, rann hai, rann hai
rann hai, rann hai, rann hai

jamir jo na beche, khud woh hi bik jaate hain
dil se jo koyi soche, dil mein hi pachhataate hai
sach ki jo raah chal de gumraah kehlaate hai
khud se hai lagati thokar, saaye se takraate hain
jivan yahaan maran hai
jivan yahaan maran hai
rann hai, rann hai, rann hai
rann hai, rann hai, rann hai

dehshat bikati hai yahaan, usul kuchh nahi hai
duniya hi hai tamaasha darshak bhi duniya hi hai
sach ka badal ke chehara karate yeh sansani hai
kya pyaar kya hai dosti har koyi matlabi hai
sankat mein khud sharan hai
sankat mein khud sharan hai
rann hai, rann hai, rann hai
rann hai, rann hai, rann hai


Lyrics in Hindi (Unicode) of "रण हैं"


यहाँ रीत ये चली हैं बुरी खबर फैली हैं
रखा हैं झूठ ऊपर हकीकते दबी हैं
इन्सान से पहले यहाँ सच की हैं मौत होती
ख़बरों मे हैं वो ताकत तलवार मे ही ज्योति
गलती का मौत दंड है
गलती का मौत दंड है
रण हैं, रण हैं, रण हैं
रण हैं, रण हैं, रण हैं

जमीर जो ना बेचे, खुद वो ही बिक जाए हैं
दिल से जो कोई सोचे, दिल मे ही पछताते हैं
सच की जो राह चल दे गुमराह कहलाते हैं
खुद से हैं लगती ठोकर, साए से टकराते हैं
जीवन यहाँ मरण हैं
जीवन यहाँ मरण हैं
रण हैं, रण हैं, रण हैं
रण हैं, रण हैं, रण हैं

दहशत बिकती हैं यहाँ, उसूल कुछ नहीं हैं
दुनिया ही हैं तमाशा दर्शक भी दुनिया ही हैं
सच का बदल के चेहरा करते ये सनसनी हैं
क्या प्यार क्या हैं दोस्ती हर कोई मतलबी हैं
संकट मे खुद शरण हैं
संकट मे खुद शरण हैं
रण हैं, रण हैं, रण हैं
रण हैं, रण हैं, रण हैं

No comments:

Post a comment