1 July 2015

Lyrics Of "Chalna Bhool Gaya" From Movie - Teen Thay Bhai (2011)

Chalna Bhool Gaya
Chalna Bhool Gaya
Lyrics Of Chalna Bhool Gaya From Movie - Teen Thay Bhai (2011):  A Playful song sung by Mohit Chauhan Featuring Om Puri, Shreyas Talpade, Deepak Dobriyal and Ragini Khanna.

Singer: Mohit Chauhan
Music: Sukhwinder Singh, Ranjit Barot
Lyrics: Gulzar
Star Cast: Om Puri, Shreyas Talpade, Deepak Dobriyal, Ragini Khanna, Om Prakash, Yograj Singh




The Video of this song is available on Youtube.







Lyrics of "Chalna Bhool Gaya"



daaya pair uthata hu toh baaya uth jaata hai
baaya pair uthata hu toh daaya uth jaata hai
daaya pair uthata hu toh baaya uth jaata hai
baaya pair uthata hu toh daaya uth jaata hai
daaya pair uthata hu toh baaya uth jaata hai
baaya pair uthata hu toh daaya uth jaata hai
haath pakar lo yaaro mera main chalna bhool gaya
main chalna bhool gaya

sar par kabse ghoom raha hai aasmaan beemaar hai kya
ghar waale sab ghar pe hai chutti hai itwaar hai kya
sar par kabse ghoom raha hai aasmaan beemaar hai kya
ghar waale sab ghar pe hai chutti hai itwaar hai kya
sar me moch aayi hai shaayad paao mera mud jaata hai
daaya pair uthata hu toh baaya uth jaata hai
baaya pair uthata hu toh
haath pakar lo yaaro mera main chalna bhool gaya
main chalna bhool gaya

baraf pe gir ke uthta hu toh sharam sharam si lagti hai
naram naram toh hai lekin kuch garam garam si lagti hai
baraf pe gir ke uthta hu toh sharam sharam si lagti hai
naram naram toh hai lekin kuch garam garam si lagti hai
bhaaiyo behno
bhaaiyo behno baat karu toh dhuye se munh bhar jaata hai
daaya pair uthata hu toh baaya uth jaata hai
baaya pair uthata hu toh daaya uth jaata hai
haath pakar lo yaaro mera main chalna bhool gaya
main chalna bhool gaya


Lyrics in Hindi (Unicode) of "चलना भूल गया"



दायाँ पैर उठाता हूँ तो बायाँ उठ जाता है
बायाँ पैर उठाता हूँ तो दायाँ उठ जाता है
दायाँ पैर उठाता हूँ तो बायाँ उठ जाता है
बायाँ पैर उठाता हूँ तो दायाँ उठ जाता है
दायाँ पैर उठाता हूँ तो बायाँ उठ जाता है
बायाँ पैर उठाता हूँ तो दायाँ उठ जाता है
हाथ पकड़ लो यारों मेरा मैं चलना भूल गया
मैं चलना भूल गया

सर पर कबसे घूम रहा है आसमान बीमार है क्या
घरवाले सब घर पे है छुट्टी है इतवार है क्या
सर पर कबसे घूम रहा है आसमान बीमार है क्या
घरवाले सब घर पे है छुट्टी है इतवार है क्या
सर में मोंच आई है शायद पाँव मेरा मुङ जाता है
दायाँ पैर उठाता हूँ तो बायाँ उठ जाता है
दायाँ पैर उठाता हूँ तो
हाथ पकड़ लो यारों मेरा मैं चलना भूल गया
मैं चलना भूल गया

बरफ पे गिर के उठता हूँ तो शर्म शर्म सी लगती है
नरम नरम तो है लेकिन कुछ गरम गरम सी लगती है
बरफ पे गिर के उठता हूँ तो शर्म शर्म सी लगती है
नरम नरम तो है लेकिन कुछ गरम गरम सी लगती है
भाइयो बहनो
भाइयो बहनों बात करूँ तो धुएँ से मुहँ भर जाता है
दायाँ पैर उठाता हूँ तो बायाँ उठ जाता है
बायाँ पैर उठाता हूँ तो दायाँ उठ जाता है
हाथ पकड़ लो यारों मेरा मैं चलना भूल गया
मैं चलना भूल गया 

No comments:

Post a comment