2 July 2015

Lyrics Of "Ishq Ro Raha Hai" From Movie - Khap (2011)

Ishq Ro Raha Hai
Ishq Ro Raha Hai
Lyrics Of Ishq Ro Raha Hai From Movie - Khap (2011):  A Sad song sung by Rekha Bhardwaj Featuring Sarrtaj Gill and Yuvika Chaudhary.

Singer: Rekha Bhardwaj
Music: Annuj Kapoo
Lyrics: Kumaar
Star Cast: Manoj Pahwa, Alok Nath, Yuvika Chaudhary, Shammi, Mohnish Bahl, Anuradha Patel, Om Puri, Sarrtaj Gill, Govind Namdev





The Video of this song is available on Youtube at the official Channel Tips Music. The Video is of 1 minutes and 31 seconds.





Lyrics of "Ishq Ro Raha Hai"



jaise kangan bin suni hai baiyaa
waise main tujh bin o saiyaa, o saiyaa

dil pe chot hai, aankho me soz hai
dil pe chot hai, aankho me soz hai
koi jiye kaise saanso pe bojh hai
koi jiye kaise saanso pe bojh hai
kisko sunaye apni duwaye
chehra mod ke palke odh ke
khuda so raha hai ishk ro raha hai
khuda so raha hai ishk ro raha hai

andhe hai aankh wale, gunge jubaan wale
andhe hai aankh wale, gunge jubaan wale
bikhre hai tut ke kachche makan wale
saare ujale ho gaye kaale
pyaar ke badle dard ki fasle kon bo raha hai
ishk ro raha hai
khuda so raha hai ishk ro raha hai
khuda so raha hai ishk ro raha hai

duniya ki iss bheed me insaan koi toh hoga
duniya ki iss bheed me insaan koi toh hoga
jo sun le dil ki cheekhe kaan koi toh hoga
aisa katra re hai lakh diware
aisa katra re hai lakh diware
koi kaise bandhe koi kaise bandhe
sabar kho raha hai ishk ro raha hai
sabar kho raha hai ishk ro raha hai
khuda so raha hai ishk ro raha hai
khuda so raha hai ishk ro raha hai
khuda so raha hai ishk ro raha hai


Lyrics in Hindi (Unicode) of "इश्क रो रहा है"



जैसे कंगन बिन सुनी है बैया
वैसे मै तुझ बिन ओ सैया, ओ सैया

दिल पे चोट है, आँखों में सोज है
दिल पे चोट है, आँखों में सोज है
कोई जिए कैसे सांसो पे बोझ है
कोई जिए कैसे सांसो पे बोझ है
किसको सुनाये अपनी दुवाए
चेहरा मोड़ के पलके ओढ के
खुदा सो रहा है इश्क रो रहा है
खुदा सो रहा है इश्क रो रहा है

अंधे है आँख वाले, गूंगे है जुबान वाले
अंधे है आँख वाले, गूंगे है जुबान वाले
बिखरे है टूट के कच्चे मकान वाले
सारे उजाले हो गए काले
प्यार के बदले दर्द की फसले कौन बो रहा है
इश्क रो रहा है
खुदा सो रहा है इश्क रो रहा है
खुदा सो रहा है इश्क रो रहा है

दुनिया की इस भीड़ में इन्सान कोई तो होगा
दुनिया की इस भीड़ में इन्सान कोई तो होगा
जो सुन ले दिल की चीखे कान कोई तो होगा
ऐसा कतरा रे है लाख दीवारे
ऐसा कतरा रे है लाख दीवारे
कोई कैसे बाँधे कोई कैसे बाँधे
सब्र खो रहा है इश्क रो रहा है
सब्र खो रहा है इश्क रो रहा है
खुदा सो रहा है इश्क रो रहा है
खुदा सो रहा है इश्क रो रहा है
खुदा सो रहा है इश्क रो रहा है

No comments:

Post a comment