30 July 2015

Lyrics Of "Jannat Ke Pallu" From Movie - Kyun Hua Achanak (2013)

 Jannat Ke Pallu
 Jannat Ke Pallu
Lyrics Of Jannat Ke Pallu From Movie - Kyun Hua Achanak (2013): Beautiful romantic song in the voice of Shaan, Nihira Joshi featuring Hazel Crowney, Aseem Ali Khan.

Singer: Shaan, Nihira Joshi
Music: Rajendra Shiv
Lyrics: Ravi Chopra
Star Cast: Hazel Crowney, Aseem Ali Khan, Rajesh Shringapore, Kashmira Shah.




The video of this song is available on YouTube.

Lyrics of "Jannat Ke Pallu"


mere khwabon ki dariya mein ik jalpari
jannat ke pallu se aake giri
mere khwabon ki dariya mein ik jalpari
dil mera hona koi shaq subha
dekh li maine kudarat ki jaadugari

maine suna tha subah ka sapana sach hota hain
re maine suna tha sach ho gaya jo khwaab buna tha
baat samjho meri jannat ke pallu se aake giri
mere khwabon ki dariya mein ik jalpari
dil mera hona koi shaq subha
dekh li maine kudarat ki jaadugari

khamoshiyo mein hain baat koi
khamoshiyo mein hain baat koi
tanhaaiyo mein hain saath koi
sabdi nahi ab raat koi ho
aankhon se neende fanna ho gayi
ho gayi mannte aaj puri meri
dil mera hana koi shaq subha
dekh li maine kudarat ki jaadugari

ek ajnabi sa ehsaas hai woh
ek ajnabi sa ehsaas hai woh
pal pal pali jo woh pyaas hai woh
khone na dungi khaas hai re woh
phool se mili to hui sundali
uski saanse hone lagi makhamali
dil mera hana koi shaq subha
dekh li maine kudarat ki jaadugari

maine suna tha subah ka sapana sach hota hain
re maine suna tha sach ho gaya jo khwaab buna tha
baat samjho meri jannat ke pallu se aake giri
mere khwabon ki dariya mein ik jalpari
dil mera hana koi shaq subha
dekh li maine kudarat ki jaadugari

Lyrics in Hindi (Unicode) of "जन्नत के पल्लू"


मेरे ख्वाबों की दरिया में इक जलपरी
जन्नत के पल्लू से आके गिरी
मेरे ख्वाबों की दरिया में इक जलपरी
दिल मेरा होना कोई शक सुबह
देख ली मैंने कुदरत की जादूगरी

मैंने सुना था सुबह का सपना सच होता हैं
रे मैंने सुना था सच हो गया जो ख्वाब बुना था
बात समझो मेरी जन्नत के पल्लू से आके गिरी
मेरे ख्वाबों की दरिया में इक जलपरी
दिल मेरा होना कोई शक सुबह
देख ली मैंने कुदरत की जादूगरी

खामोशियो मे हैं बात कोई
खामोशियो मे हैं बात कोई
तन्हाइयो मे हैं साथ कोई
सबदी नहीं अब रात कोई हो
आँखों से नींदे फन्ना हो गयी
हो गयी मन्नते आज पूरी मेरी
दिल मेरा होना कोई शक सुबह
देख ली मैंने कुदरत की जादूगरी

एक अजनबी सा एहसास हैं वो
एक अजनबी सा एहसास हैं वो
पल पल पली जो वो प्यास हैं वो
खोने ना दूंगी ख़ास हैं रे वो
फुल से मिली तो हुई सुन्दाली
उसकी साँसे होने लगी मखमली
दिल मेरा होना कोई शक सुबह
देख ली मैंने कुदरत की जादूगरी

मैंने सुना था सुबह का सपना सच होता हैं
रे मैंने सुना था सच हो गया जो ख्वाब बुना था
बात समझो मेरी जन्नत के पल्लू से आके गिरी
मेरे ख्वाबों की दरिया में इक जलपरी
दिल मेरा होना कोई शक सुबह
देख ली मैंने कुदरत की जादूगरी

No comments:

Post a comment