13 July 2015

Lyrics Of "Zindagi Tu Bata Mujhe" From Movie - Mirch (2010)

Zindagi Tu Bata Mujhe
Zindagi Tu Bata Mujhe
Lyrics Of Zindagi Tu Bata Mujhe From Movie - Mirch (2010): A sad song sung by Kunal Ganjawala, Vaishali Samant, Sharmistha Chatterjee and music composed by Monty Sharma.

Music: Monty Sharma
Lyrics: Javed Akhtar
Star Cast: Shreyas Talpade, Shahana Goswami, Konkona Sen Sharma, Raima Sen, Arunoday Singh, Rajpal Yadav, Boman Irani.




Lyrics of "Zindagi Tu Bata Mujhe"


zindagi zindagi tu bata mujhe nahi hai jo pata
zindagi zindagi tu bata hai kaun sa wo rasta
jata jo waha hai mujhe jana jaha hai
tu bata hai kaun sa wo rasta
mujhe le ke jaye jo us nagar
jaha jaise chahu mai reh saku
jaha dil ki bate mai sun saku
jaha dil ki bate mai keh saku
jaha apni sharto pe mai jiyu
mujhe us nagar hai jana
tu bata hai kaun sa wo rasta

jaha ab kahe mai har ek baat kar lu
jaha phir mai khud se mulaqat kar lu
jaha zindgi me tere geet gau
jaha khwab dekhu to na chupau
mujhe bata hai kaun sa wo rasta
mujhe le ke jaaye jo us nagar
jaha jaise chahu mai reh saku
jaha dil ki bate mai sun saku
jaha dil ki bate mai keh saku
jaha apni sharto pe mai jiyu
mujhe us nagar hai jana
tu bata hai kaun sa wo rasta

tumhe gar hai jana ek aise nagar ko
jaha sapna dekho to sapna sach ho
jo tum chalte jao to rasta yahi hai
magar yaad rakhna rukna nahi hai
ki tum hi to banaoge wo rasta


Lyrics in Hindi (Unicode) of "जिंदगी तू बता मुझे"



जिंदगी जिंदगी तू बता मुझे नहीं है जो पता
जिंदगी जिंदगी तू बता हैं कौन सा वो रास्ता
जाता जो वहां है मुझे जाना जहाँ हैं
तू बता हैं कौन सा वो रास्ता
मुझे ले के जाए जो उस नगर
जहा जैसे चाहू मैं रह सकू
जहाँ दिल की बाते मैं सुन सकू
जहाँ दिल की बाते मैं कह सकू
जहाँ अपनी शर्तो पे मैं जीयु
मुझे उस नगर हैं जाना
तू बता हैं कौन सा वो रास्ता

जहाँ अब कहे मैं हर बात कर लू
जहाँ फिर मैं खुद से मुलाक़ात कर लूँ
जहाँ जिंदगी में तेरे गीत गाऊं
जहाँ ख्वाब देखू तो ना छुपाऊ
मुझ बता हैं कौन सा वो रास्ता
मुझे ले के जाये जो उस नगर
जहा जैसे चाहू मैं रह सकू
जहाँ दिल की बाते मैं सुन सकू
जहाँ दिल की बाते मैं कह सकू
जहाँ अपनी शर्तो पे मैं जीयु
मुझे उस नगर हैं जाना
तू बता हैं कौन सा वो रास्ता

तुम्हे गर है जाना इक ऐसे नगर को
जहाँ सपना देखो तो सपना सच हो
जो तुम चलते जाओ तो रास्ता यही हैं
मगर याद रखना रुकना नहीं हैं
की तुम ही तो बनाओगे वो रास्ता

No comments:

Post a comment