19 August 2015

Lyrics Of "Kaafi Nahi Chaand" From Movie - Revolver Rani (2014)

Kaafi Nahi Chaand
Kaafi Nahi Chaand
Lyrics Of Kaafi Nahi Chaand From Movie - Revolver Rani (2014): Nice romantic song in the melodious voice of Asha Bhosle featuring Kangna Ranaut, Vir Das.

Singer: Asha Bhosle
Music: Sanjeev Srivastava
Lyrics: Shaheen Iqbal
Star Cast: Kangna Ranaut, Vir Das, Piyush Mishra, Zakir Hussain.




The video of this song is available on youtube at the official channel T-Series. This video is of 3 minutes 24 seconds duration.

Lyrics of "Kaafi Nahi Chaand"


Kaafi nahi hai chaand humare liye abhi
aakhe taras rahe hai tumahare liye abhi
hum tanha bekrar nahi intjar me
hum tanha bekrar nahi intjar me, intjar me
ye raat bhi ruki hai tumhare liye abhi
kaafi nahi hai chaand humare liye abhi

jage soye soye jaage manjar hai sab ye khawab ke
pucho aake muskarake dil main hu kya kya daab ke
badmashiya behisab angdaiya behijab
be bakt jajbad hai saare
hum tanha bekrar nahi intjar me
hum tanha bekrar nahi intjar me, intjar me
bechain har koyi hai tumahre liye abhi
kaafi nahi hai chaand humare liye abhi

saanse mere abhi tere madhoshiyo ki kaid me
hai jo thari bekrari jaane kaha jaa ke thami
sholo pe karke safar khusbu se hu tar batar
phulo me lipte hain saraare
hum tanha bekrar nahi intjar me
hum tanha bekrar nahi intjar me, intjar me
badmast waqt bhi hai tumhare liye abhi
kaafi nahi hai chaand humare liye abhi

Lyrics in Hindi (Unicode) of "काफी नहीं चाँद"


काफी नहीं है चाँद हमारे लिए अभी
आँखे तरस रहे है तुम्हारे लिए अभी
हम तनहा बेकरार नहीं इन्तजार में
हम तनहा बेकरार नहीं इन्तजार में, इन्तजार में
ये रात भी रुकी है तुम्हारे लिए अभी
काफी नहीं है चाँद हमारे लिए अभी

जगे सोये सोये जागे मंजर है सब ये ख़वाब के
पूछो आके मुस्कराते दिल मैं हु क्या क्या दाब के
बदमाशियाँ बेहिसाब अंगड़ाईयाँ बेहिजाब
बे बाकात जज्बाद है सारे
हम तनहा बेकरार नहीं इन्तजार में
हम तनहा बेकरार नहीं इन्तजार में, इन्तजार में
बेचैन हर कोई है तुम्हारे लिए अभी
काफी नहीं है चाँद हमारे लिए अभी

सांसे मेरे अभी तेरे मदहोशियो की कैद में
है जो थारी बेकरारी जाने कहाँ जा के थमी
शोलों पे करके सफर खुशबू से हूँ तर बतर
फूलों में लिपटे हैं सरारे
हम तनहा बेकरार नहीं इन्तजार में
हम तनहा बेकरार नहीं इन्तजार में, इन्तजार में
बदमस्त वक़्त भी है तुम्हारे लिए अभी
काफी नहीं है चाँद हमारे लिए अभी



No comments:

Post a comment