22 August 2015

Lyrics Of "Mureed" From Vipin Aneja's Latest Album - Mureed (2015)

Mureed
Mureed
Lyrics Of Mureed Vipin Aneja's From Album - Mureed (2015): Beautiful love song in the voice of Vipin Aneja and music composed by Manan.

Singer: Vipin Aneja
Music: Manan
Lyrics: Manan






The video of this song is available on youtub.

Lyrics of "Mureed"


ke dil samajh jaaye jo tera
ke dil samajh jaaye jo tera
aisa ishq nahi hai mera

thehra saa dil tera hai
sehraa saa dil tera hai
tera mureed hai ye dil
thehra saa dil tera hai
sehraa saa dil tera
tera mureed hai ye dil

soone makaanon ki
sooni si galiyon mein
detaa tera pehraa ye dil
samjha de isko tere liye ye
doobe hi jaaye re
samjha de isko tere liye ye
doobe hi jaaye

noori samandar ka paani ye gehra hai
haan jisme thehra ye dil
noori samandar ka paani ye gehra hai
haan jisme thehra ye dil

teri teri ghulaami ki hami bhari hai
haan teri ghulaami ki hami bhari hai
sajde mein tere maine rate kari hain
teri ghulaami ki hami bhari hai
sajde mein tere maine rate kari hain

saanjh ko raat ko
bhor ko maine sunaa hai
batein teri meri kare ye
gaur se maine sunaa hai
saanjh ko raat ko
bhor ko maine sunaa hai
batein teri meri ye kare
gaur se maine sunaa hai
baato mein inki ha tera hi chehra hai
chatt pe tu aake mujhse mil

thehra saa dil tera hai
sehraa saa dil tera
tera mureed hai ye dil
samjha de isko tere liye ye
doobe hi jaaye
noori samandar ka paani ye gehra hai
haan jisme thehra ye dil

Lyrics in Hindi (Unicode) of "मुरीद"


के दिल समझ जाए जो तेरा
के दिल समझ जाए जो तेरा
ऐसा इश्क नहीं हैं मेरा

ठेहरा सा दिल तेरा हैं
सेहरा सा दिल तेरा हैं
तेरा मुरीद हैं ये दिल
ठेहरा सा दिल तेरा हैं
सेहरा सा दिल तेरा
तेरा मुरीद हैं ये दिल

सूने मकानों की
सूनी सी गलियों मे
देता तेरा पहरा ये दिल
समझा दे इसको तेरे लिए ये
डूबे ही जाए रे
समझा दे इसको तेरे लिए ये
डूबे ही जाए रे

नूरी समन्दर का पानी ये गहरा हैं
हाँ जिसमे ठेहरा ये दिल
नूरी समन्दर का पानी ये गहरा हैं
हाँ जिसमे ठेहरा ये दिल

तेरी तेरी ग़ुलामी की हामी भरी हैं
हाँ तेरी ग़ुलामी की हामी भरी हैं
सजदे मे तेरे मैंने राते करी हैं
तेरी ग़ुलामी की हामी भरी हैं
सजदे मे तेरे मैंने राते करी हैं

साँझ को रात को
भोर को मैंने सुना हैं
बाते तेरी मेरी करे ये
गौर से मैंने सुना हैं
साँझ को रात को
भोर को मैंने सुना हैं
बाते तेरी मेरी करे ये
गौर से मैंने सुना हैं
बातो मे इनकी हाँ तेरा ही चेहरा हैं
छत पे तू आके मुझसे मिल

ठेहरा सा दिल तेरा हैं
सेहरा सा दिल तेरा
तेरा मुरीद हैं ये दिल
समझा दे इसको तेरे लिए ये
डूबे ही जाए रे
नूरी समन्दर का पानी ये गहरा हैं
हाँ जिसमे ठेहरा ये दिल

No comments:

Post a comment