8 August 2015

Lyrics Of "Parchhai" From Movie - Amit Sahni Ki List (2014)

Parchhai
Parchhai
Lyrics Of Parchhai From Movie - Amit Sahni Ki List (2014): A song sung by Sonu Nigam featuring Vir Das, Vega Tamotia, Anindita Nayar.

Singer: Sonu Nigam
Music: Palash Muchhal
Lyrics: Palak Muchhal
Star Cast: Vir Das, Vega Tamotia, Kavi Shastri, Anindita Nayar.





The video of this song is available on YouTube at the official channel Zee Music Company. This video is of 2 minutes 30 seconds duration.

Lyrics of "Parchhai"


kehne ko toh main jee raha hoon
dhadkan se saansein hi juda hain
manzil tak pahuncha toh yeh jaana
raste mein khud ko kho diya hai

khud ki kya pehchan doon main
khud se hi anjaan hoon main
jeeta hoon magar abb zinda hi nahin
jo socha woh samjha hi nahin

roothe khayalon mein kaisi tanhai hai
na jaanu main hoon ya meri parchhai hai
roothe khayalon mein kaisi tanhai hai
na jaanu main hoon ya meri parchhai hai

sooni sooni si raaton mein
khaalipan mujhko khalta hai
sab hai magar kuch bhi nahin
tanha tanha se iss dil mein
koi kaanta kyun chubhta hai
aankhon mein har pal hai nami

khud ki kya pehchan doon main
khud se hi anjaan hoon main
jeeta hoon magar abb zinda hi nahin
jo socha woh samjha hi nahin

roothe khayalon mein kaisi tanhai hai
na jaanu main hoon ya meri parchhai hai
roothe khayalon mein kaisi tanhai hai
na jaanu main hoon ya meri parchhai hai

Lyrics in Hindi (Unicode) of "परछाई"


कहने को तो मैं जी रहा हूँ
धड़कन से सांसें ही जुदा है
मंज़िल तक पहुंचा तो ये जाना
रास्ते में खुद को खों दिया है

खुद की क्या पहचान दूँ मैं
खुद से ही अनजान हूँ मैं
जीता हूँ मगर अब जिंदा ही नही
जो सोचा वो समझा ही नही

रूठे ख्यालो में कैसी तन्हाई है
ना जानू मैं हूँ या मेरी परछाई है
रूठे ख्यालो में कैसी तन्हाई है
ना जानू मैं हूँ या मेरी परछाई है

सूनी सूनी सी रातों में
खालीपन मुझको खलता है
सब है मगर कुछ भी नही
तन्हा तन्हा से इस दिल में
कोई काँटा क्यों चुभता है
आँखों में हर पल है नमी

खुद की क्या पहचान दूँ मैं
खुद से ही अनजान हूँ मैं
जीता हूँ मगर अब जिंदा ही नही
जो सोचा वो समझा ही नही

रूठे ख्यालो में कैसी तन्हाई है
ना जानू मैं हूँ या मेरी परछाई है
रूठे ख्यालो में कैसी तन्हाई है
ना जानू मैं हूँ या मेरी परछाई है

No comments:

Post a comment