10 December 2015

Lyrics Of "Kisi Raah Bhi" From Latest Movie - Hum Baja Bajaa Denge (2015).

Kisi Raah Bhi
Kisi Raah Bhi
A song sung by Bhupendra Singh, music composed by Nikhil Kamath while lyrics are written by Vimal Kashyap.

Singer: Bhupendra Singh
Music: Nikhil Kamath
Lyrics: Vimal Kashyap
Star Cast: Aniket Vishwasrao, Sanam Bakshi, Jackie Shroff, Rajiv Verma, Anup Jalota, Pankaj Udhas, Khayali.




Lyrics of "Kisi Raah Bhi"


kisi raah bhi main chala
tumse hi aake mila
meri soch ka har sira hai juda
tumse hi tumse hi tumse hi
tumse hi tumse hi tumse hi
kisi raah bhi main chala
tumse hi aake mila
meri soch ka har sira hai juda
tumse hi tumse hi tumse hi
tumse hi tumse hi tumse hi

judaa hoke bhi tumse hun juda main nahi
dhadakte ho tum hi dil ki sada main kahi
judaa hoke bhi tumse hun juda main nahi
dhadakte ho tum hi dil ki sada main kahi
na guzre tere bin koi lamha mera
kare dil ye harpal mera sajda tera
sajda tera sajda tera

mere chahaton ka sila
hai jo mujhe tu mila
mere shab tujhi me dhali, din chala
tumse hi tumse hi tumse hi
tumse hi tumse hi tumse hi

meri khwaaishon me basi hai teri aarzoo
paas tum ho phir bhi kyu hain teri justjoo
meri khwaaishon me basi hai teri aarzoo
paas tum ho phir bhi kyu hain teri justjoo
dekhu jabhi tujko mujhe hota hai gumaan
meherbaan hain mujhpe mera wo rehnuman
wo rehnumaan wo rehnuman

tumhe paaya to yeh lagaa roshan hua ye sama
rango mein dhalne lagaa tu jaha
tumse hi tumse hi tumse hi
tumse hi tumse hi tumse hi
kisi raah bhi main chala, tumse hi aake mila
meri soch ka har sira hai juda
tumse hi tumse hi tumse hi
tumse hi tumse hi tumse hi


Lyrics in Hindi (Unicode) of "किसी राह भी"


किसी राह भी मैं चला
तुमसे ही आके मिला
मेरी सोच का हर सिरा है जुड़ा
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही
किसी राह भी मैं चला
तुमसे ही आके मिला
मेरी सोच का हर सिरा है जुड़ा
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही

जुदा होके भी तुमसे हूँ जुदा मैं नही
धड़कते हो तुम ही दिल की सदा में कहीं
जुदा होके भी तुमसे हूँ जुदा मैं नही
धड़कते हो तुम ही दिल की सदा में कहीं
ना गुज़रे तेरे बिन कोई लम्हा मेरा
करे दिल ये हरपल मेरा सजदा तेरा
सजदा तेरा सजदा तेरा

मेरे चाहतों का सिला
है जो मुझे तू मिला
मेरे शब तुझी में ढली, दिन चला
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही

मेरी ख्वाइशों में बसी है तेरी आरज़ू
पास तुम हो फिर भी क्यूँ है तेरी जुस्तजू
मेरी  ख्वाइशों में बसी है तेरी आरज़ू
पास तुम हो फिर भी क्यूँ है तेरी जुस्तजू
देखूं जभी तुझको मुझे होता है गुमान
मेहरबान है मुझपे मेरा वो रेहनुमां
वो रेहनुमां वो रेहनुमां

तुम्हे पाया तो यह लगा रोशन हुआ ये समा
रंगों में ढलने लगा तो जहां
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही
किसी राह भी मैं चला, तुमसे ही आके मिला
मेरी सोच का हर सिरा है जुड़ा
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही
तुमसे ही तुमसे ही तुमसे ही

No comments:

Post a comment