28 January 2016

Lyrics Of "Chand Chhupa" From Latest Album - Chand Chhupa (2016).

Chand Chhupa
Chand Chhupa
Nice romantic song in the voice of Armaan Malik and music composed by Amaal Mallik, Ismail Darbar.

Singer: Armaan Malik
Music: Amaal Mallik, Ismail Darbar
Lyrics:Mehboob Kotwal







The audio of this song is available on YouTube at the official channel T-Series. This audio is of 2 minutes 42 seconds duration. 



Lyrics of "Chand Chhupa"


chand chupa badal me sharma ke meri jaana
seene se lag ja tu balkha ke meri jaana
gumsum sa hai, gupchup sa hai
madhosh hai, khamosh hai
yeh sama haan yeh sama kuch aur hai
chand chupa badal me sharma ke meri jaana
seene se lag ja tu balkha ke meri jaana

nazdikiya badh jaane de
are nahi baba nahi abhi nahi nahi nahi
duriyaa mit jaane de
are nahi baba nahi abhi nahi nahi nahi
door se hi tum ji bhar ke dekho
tum hi kaho kaise door se dekhu
chaand ko jaise dekhta chakor hai

aye gumsum sa hai, gupchup sa hai
madhosh hai, khamosh hai
yeh sama haan yeh sama kuch aur hai
chand chupa badal me sharma ke meri jaana
seene se lag ja tu balkha ke meri jaana

Lyrics in Hindi (Unicode) of "चाँद छुपा"


चाँद छुपा बादल में शरमा के मेरी जाना
सीने से लग जा तू बलखा के मेरी जाना
गुमसुम सा हैं, गुपचुप सा हैं
मदहोश हैं, खामोश हैं
ये समा हाँ ये समा कुछ और हैं
चाँद छुपा बादल में शरमा के मेरी जाना
सीने से लग जा तू बलखा के मेरी जाना

नजदीकियाँ बढ़ जाने दे
अरे नहीं बाबा नहीं अभी नहीं नहीं नहीं
दूरियाँ मिट जाने दे
अरे नहीं बाबा नहीं अभी नहीं नहीं नहीं
दूर से ही तुम जी भर के देखो
तुम ही कहो कैसे दूर से देखू
चाँद को जैसे देखता चकोर हैं

ए गुमसुम सा हैं, गुपचुप सा हैं
मदहोश हैं, खामोश हैं
ये समा हाँ ये समा कुछ और हैं
चाँद छुपा बादल में शरमा के मेरी जाना
सीने से लग जा तू बलखा के मेरी जाना

No comments:

Post a comment