14 February 2016

Lyrics Of "Ab Tu Hi Tu" From Latest Movie - Jab Tum Kaho (2016)

Ab Tu Hi Tu
Ab Tu Hi Tu
Nice romantic song in the melodious voice of Shafqat Amanat Ali, Palak Muchhal featuring Parvin Dabas, Ambalika Sarkar.

Singer: Shafqat Amanat Ali, Palak Muchhal
Music: Anuj Garg
Lyrics: Ratn Nautiyal
Star Cast: Parvin Dabas, Ambalika Sarkar, Shirin Guha



The video of this song is available on YouTube at the official channel T-Series. This video is of 2 minutes 51 seconds duration.

Lyrics of "Ab Tu Hi Tu"


ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
uda khwaab mera tere pankho ki parwazo se
subah meri huyi hai teri subah ke ujalo se
tujhse yakeen paau, duniya ko jeet jaau
teri hi to raaho pe main hoon chala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala

teri khushiyo ki dori gam ki patang meri uda le gayi
teri khushiyo ki dori gam ki patang meri uda le gayi
meri har ik kahani teri hi zubani bayan ho gayi
lakire hatho ki badli tere hatho ke chhu jaane se
subah meri huyi hai teri subah ke ujalo se
tujhse yakeen paau, duniya ko jeet jaau
teri hi to raaho pe main hoon chala

teri baaho me aise base barish me jaise bundo ka ghar
mujhko mila hai tu is tarah soye parindo ko jaise sehar
jannat paayi hai maine teri duniya me aa jaane se
subah meri huyi hai teri subah ke ujalo se
tujhse yakeen paau, duniya ko jeet jaau
teri hi to raaho pe main hoon chala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala
ab tu hi tu mujhme hai, mai kaha bhala


Lyrics in Hindi (Unicode) of "अब तू ही तू"


अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
उड़ा ख्वाब मेरा तेरे पंखो की परवाजो से
सुबह मेरी हुई हैं तेरी सुबह के उजालो से
तुझसे यकीन पाऊ, दुनिया को जीत जाऊ
तेरी ही तो राहो पे मैं हूँ चला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला

तेरी खुशियों की डोरी ग़म की पतंग मेरी उड़ा ले गयी
तेरी खुशियों की डोरी ग़म की पतंग मेरी उड़ा ले गयी
मेरी हर इक कहानी तेरी ही ज़ुबानी बयान हो गयी
लकीरे हाथो की बदली तेरे हाथो को छू जाने से
सुबह मेरी हुई हैं तेरी सुबह के उजालो से
तुझसे यकीन पाऊ, दुनिया को जीत जाऊ
तेरी ही तो राहो पे मैं हूँ चला

तेरी बाहों मे ऐसे बेस बारिश में जैसे बूंदों का घर
मुझको मिला हैं तू इस तरह सोए परिंदों को जैसे सहर
जन्नत पाई हैं मैंने तेरी दुनिया में आ जाने से
सुबह मेरी हुई हैं तेरी सुबह के उजालो से
तुझसे यकीन पाऊ, दुनिया को जीत जाऊ
तेरी ही तो राहो पे मैं हूँ चला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला
अब तू ही तू मुझमे हैं, मैं कहा भला

No comments:

Post a comment