8 March 2016

Lyrics Of "Phir Teri Yaad" From Latest Album - Phir Teri Yaad (2016)

Phir Teri Yaad
Phir Teri Yaad
Nice rock song sung by Fakhar Abbas and music composed by Atif Ali.

Singer: Fakhar Abbas
Music: Atif Ali
Lyrics: Waqas Qadir
Features: Fakhar Abbas.






The video of this song is available on YouTube.

Lyrics of "Phir Teri Yaad"


mukhtasar baat hai sunle zara
zindagi bewajah tere bina
sard raato ki woh bhigi tanhaaiya
mere aashiya ko in barisho ne jala diya
phir teri yaad aaye kyu, phir teri yaad aaye kyu
teri yaad aaye kyu, phir teri yaad aaye kyu

na jaane kyun aise mujhe chhod ke ab woh chal diye
khamosh lamho me kahi
raste juda jab kar diye, rishte bhi to jab na rahe
phir kyun woh jaake dur roye
ho tere naina, tere naina, tere naina
roye naina tere naina naahi chaina
phir teri yaad aaye kyu, phir teri yaad aaye kyu
phir teri yaad aaye kyu, phir teri yaad aaye kyu

dard karu kaise bayan, sadiyo ka hai yeh imtehan
teri hi chahat ka asar
shayad wafa me thi kami, milke bhi jo na mil saki
rog judai ka hai sehna
oh kaise main bataau tere bin kya ban gaya
jaane kyun bana tu mere jeene ki wajah
phir teri yaad aaye kyu, phir teri yaad aaye kyu
phir teri yaad aaye kyu, phir teri yaad aaye kyu


Lyrics in Hindi (Unicode) of "फिर तेरी याद"


मुख़्तसर बात हैं सुनले ज़रा
ज़िन्दगी बेवजह तेरे बिना
सर्द रातो की वो भीगी तन्हाइया
मेरे आशिया को इन बारिशो ने जला दिया
फिर तेरी याद आये क्यूँ, फिर तेरी याद आये क्यूँ
तेरी याद आये क्यूँ, फिर तेरी याद आये क्यूँ

ना जाने क्यूँ ऐसे मुझे छोड़ के अब वो चल दिए
खामोश लम्हों में कही
रास्ते जुदा जब कर दिए, रिश्ते भी तो जब ना रहे
फिर क्यूँ वो जाके दूर रोये
हो तेरे नैना, तेरे नैना, तेरे नैना
रोये नैना तेरे नैना नाही चैना
फिर तेरी याद आये क्यूँ, फिर तेरी याद आये क्यूँ
फिर तेरी याद आये क्यूँ, फिर तेरी याद आये क्यूँ

दर्द करू कैसे बयाँ, सदियों का हैं ये इम्तेहान
तेरी ही चाहत का असर
शायद वफ़ा में थी कमी, मिलके भी जो ना मिल सकी
रोग जुदाई का हैं सहना
ओ कैसे मैं बताऊ तेरे बिन क्या बन गया
जाने क्यूँ बना तू मेरे जीने की वजह
फिर तेरी याद आये क्यूँ, फिर तेरी याद आये क्यूँ
फिर तेरी याद आये क्यूँ, फिर तेरी याद आये क्यूँ

No comments:

Post a comment