23 June 2016

Lyrics Of "Laali Dil Se" From Latest Movie - Laal Rang (2016)

Laali Dil Se
Laali Dil Se
A pop song sung by Sameer Khan and music composed by Mathias Duplessy.

Singer: Sameer Khan
Music: Mathias Duplessy
Lyrics: Kausar Munir
Star Cast: Randeep Hooda, Akshay Oberoi, Rajniesh Duggall, Piaa Bajpai, Meenakshi Dixit, Shreya Narayan, Rajendra Sethi.



The lyrical video of this song is available on YouTube at the official channel T-Series. This video is of 3 minutes 20 seconds duration.

Lyrics of "Laali Dil Se"


laali dil se maine chura li, hatho ko rang liya
laali munh se aisi laga li, hontho ko rang liya
ye laal rang rang raha hai chahto ko, mangta hai pyar ye
laali aansuo se chura li, aankho ko rang liya
laali dil se aisi laga li, laakho ko rang liya
ye laal rang rang raha hai nafrato ko, maarta hai yaar ye

chale bhi, daude bhi, bahe bhi nas me yeh
jale bhi, tape bhi, rahe na bas me yeh
yeh laal rang jawan kar gaya
tadke bhadke tapke nas nas me yeh
tadpe dhadke rahe na bas me yeh
yeh laal rang tabah kar gaya

laali dardo se maine bini, zakhmo ko bhar liya
laali gairo se maine chhini, apno ko rang liya
ye laal rang rang raha hai pidhiyo ko
ye pal raha hai khun me

chale bhi, daude bhi, bahe bhi nas me yeh
jale bhi, tape bhi, rahe na bas me yeh
yeh laal rang jawan kar gaya
tadke bhadke tapke nas nas me yeh
tadpe dhadke rahe na bas me yeh
yeh laal rang tabah kar gaya


Lyrics in Hindi (Unicode) of "लाली दिल से"


लाली दिल से मैंने चुरा ली, हाथो को रंग लिया
लाली मुंह से ऐसी लगा ली, होंठो को रंग लिया
ये लाल रंग रंग रहा हैं चाहतो को, मांगता हैं प्यार ये
लाली आँसुओ से चुरा ली, आँखों को रंग लिया
लाली दिल से ऐसी लगा ली, लाखो को रंग लिया
ये लाल रंग रंग रहा हैं नफरतो को, मारता हैं यार ये

चले भी, दौड़े भी, बहे भी नस में ये
जले भी, तपे भी, रहे ना बस में ये
ये लाल रंग जवान कर गया
तडके भड़के तपके नस नस में ये
तडपे धडके रहे ना बस में ये
ये लाल रंग तबाह कर गया

लाली दर्दो से मैंने बिनी, ज़ख्मो को भर लिया
लाली गिरो से मैंने छिनी, अपनों को रंग लिया
ये लाल रंग रंग रहा हैं पीढियों को
ये पल रहा हैं खून में

चले भी, दौड़े भी, बहे भी नस में ये
जले भी, तपे भी, रहे ना बस में ये
ये लाल रंग जवान कर गया
तडके भड़के तपके नस नस में ये
तडपे धडके रहे ना बस में ये
ये लाल रंग तबाह कर गया

No comments:

Post a comment