3 July 2016

Lyrics Of "Sukun" From Latest Album - Sukun (2016)

Sukun
Sukun
A rock song sung by Anand Parmar and music composed by Muzik Amy.

Singer: Anand Parmar
Music: Muzik Amy
Lyrics: Gold








Lyrics of "Sukun"


suni suni zindagi se, behaki behaki har kami pe hai tu
har fiza se, har dafa pe
har ada se, har khafa pe tu bus tu
har fikar se, har jikar pe tu
har sukun se sukun me tu
har wafa ke suchne tak, har khushi ke najane tak hai tu
kabhi to khwab me rango to mile, subah mile har soch me tu
kabhi to khwab me rango to mile, subah mile har soch me tu

sadiyo se jisko taras hai pal wo aaj mile tujhse
tujhse jo dil ko ishq hua, gadar hone lagi khud se
rishta tujhse jarur lage, ae khud ki mujhe na khabar hai
jeena tujh bin adhura lage, duniyadari me dar hai
kabhi to khwab me rango to mile, subah mile har soch me tu
kabhi to khwab me rango to mile, subah mile har soch me tu

zindagi to fir firak ke ab savar lu main tujhe
wo jo karde kuch gunah to, wo saza bhi ho mujhe
nasha jo tera ho gaya duniya se juda ho gaya
ab to koi khabar hai na asar bacha hai kuch ab mere siva
kabhi to khwab me rango to mile, subah mile har soch me tu
kabhi to khwab me rango to mile, subah mile har soch me tu
bas tu, bas tu, bas tu, bas tu
bas tu, bas tu, bas tu, bas tu, bas tu


Lyrics in Hindi (Unicode) of "सुकून"


सुनी सुनी ज़िन्दगी से, बेहकी बेहकी हर कमी पे है तू
हर फिजा से, हर दफा पे
हर अदा से, हर खफा पे तू बस तू
हर फिकर से, हर जीकर पे तू
हर सुकून से सुकून में तू
हर वफ़ा के सुचने तक, हर ख़ुशी के नाजने तक है तू
कभी तो ख्वाब में रंगों तो मिले, सुबह मिले हर सोच में तू
कभी तो ख्वाब में रंगों तो मिले, सुबह मिले हर सोच में तू

सदियों से जिसको तरस है पल वो आज मिले तुझसे
तुझसे जो दिल को इश्क हुआ, ग़दर होने लगी खुद से
रिश्ता तुझसे जरुर लगे, खुद की मुझे ना खबर है
जीना तुझ बिन अधुरा लगे, दुनियादारी में दर है
कभी तो ख्वाब में रंगों तो मिले, सुबह मिले हर सोच में तू
कभी तो ख्वाब में रंगों तो मिले, सुबह मिले हर सोच में तू

ज़िन्दगी तो फिर फिरक के अब सवार लू मैं तुझे
वो जो करदे कुछ गुनाह तो, वो सजा भी हो मुझे
नशा जो तेरा हो गया दुनिया से जुदा हो गया
अब तो कोई खबर है ना असर बचा है कुछ अब मेरे सिवा
कभी तो ख्वाब में रंगों तो मिले, सुबह मिले हर सोच में तू
कभी तो ख्वाब में रंगों तो मिले, सुबह मिले हर सोच में तू

No comments:

Post a comment