20 September 2016

Lyrics Of "Kaari Kaari" From Latest Movie - Pink (2016)

Kaari Kaari
Kaari Kaari
A sad song sung by Qurat Ul Ain Balouch featuring Amitabh Bachchan, Tapsee Pannu, Kirti Kulhari, Andrea Tariang.

Singer: Qurat Ul Ain Balouch
Music: Shantanu Moitra
Lyrics: Tanveer Ghazi
Star Cast: Amitabh Bachchan, Tapsee Pannu, Kirti Kulhari, Andrea Tariang, Angad Bedi, Dhritiman Chatterjee, Mamata Shankar.



The video of this song is available on YouTube at the official channel Times Music. This video is of 2 minutes 58 seconds duration.


The lyrical video of this song is also available on YouTube at the official channel Times Music. This video is of 6 minutes 54 seconds duration.

Lyrics of "Kaari Kaari"


kaari kaari raina sari sau andhere kyu layi, kyu layi
roshani ke paao me ye bediya si kyu aayi, kyu aayi
ujiyaare kaise, angaare jaise
chaaoa chhaili, dhup maili kyu hain ri
kaari kaari raina sari sau andhere kyu layi, kyu layi
roshani ke paao me ye bediya si kyu aayi, kyu aayi
ujiyaare kaise, angaare jaise
chaaoa chhaili, dhup maili kyu hain ri

titaliyo ke pankho par rakh diye gaye patthar
aye khuda tu goom hai kaha
reshami libaaso ko chirate hai kuch khanjar
aye khuda tu goom hai kaha
kya reet chal padi hai, kya aag jal padi hai
kyu chikhta hai surmayi dhuaa
kya reet chal padi hai, kya aag jal padi hai
kyu chikhta hai surmayi dhuaa

kaari kaari raina sari sau andhere kyu layi, kyu layi
roshani ke paao me ye bediya si kyu aayi, kyu aayi
ujiyaare kaise, angaare jaise
chaaoa chhaili, dhup maili kyu hain ri

pankhudi ki beti hai, kankado pe leti hai
baarishe hai tezaab ki
na ye uth ke chalti hai, na chita me jalti hai
laash hai ye kis khwaab ki
raato me pal rahi hai, sadko pe chal rahi hai
kyu baal khole dehshate yaha
raato me pal rahi hai, sadko pe chal rahi hai
kyu baal khole dehshate yaha

kaari kaari raina sari sau andhere kyu layi, kyu layi
roshani ke paao me ye bediya si kyu aayi, kyu aayi
ujiyaare kaise, angaare jaise
chaaoa chhaili, dhup maili kyu hain ri



Lyrics in Hindi (Unicode) of "कारी कारी"


रैना सारी सौ अँधेरे क्यूँ लाई, क्यूँ लाई
रोशनी के पाओ में ये बेड़ियाँ सी क्यूँ आई, क्यूँ आई
उजियारे कैसे, अंगारे जैसे
छाओं छैली, धुप मैली क्यूँ हैं री
कारी कारी रैना सारी सौ अँधेरे क्यूँ लाई, क्यूँ लाई
रोशनी के पाओ में ये बेड़ियाँ सी क्यूँ आई, क्यूँ आई
उजियारे कैसे, अंगारे जैसे
छाओं छैली, धुप मैली क्यूँ हैं री

तितलियों के पंखो पर रख दिए गए पत्थर
ए खुदा तू गूम हैं कहा
रेशमी लिबासो को चीरते हैं कुछ खंजर
ए खुदा तू गूम हैं कहा
क्या रीत चल पड़ी हैं, क्या आग जल पड़ी हैं
क्यों चीखता हैं सुरमई धुआँ
क्या रीत चल पड़ी हैं, क्या आग जल पड़ी हैं
क्यों चीखता हैं सुरमई धुआँ

कारी कारी रैना सारी सौ अँधेरे क्यूँ लाई, क्यूँ लाई
रोशनी के पाओ में ये बेड़ियाँ सी क्यूँ आई, क्यूँ आई
उजियारे कैसे, अंगारे जैसे
छाओं छैली, धुप मैली क्यूँ हैं री

पंखुड़ी की बेटी हैं, कंकडो पे लेटी हैं
बारिशे हैं तेज़ाब की
ना ये उठ के चलती हैं, ना चिता में जलती हैं
लाश हैं ये किस ख्वाब की
रातो में पल रही हैं, सडको पे चल रही हैं
क्यूँ बाल खोले दहशते यहाँ
रातो में पल रही हैं, सडको पे चल रही हैं
क्यूँ बाल खोले दहशते यहाँ

कारी कारी रैना सारी सौ अँधेरे क्यूँ लाई, क्यूँ लाई
रोशनी के पाओ में ये बेड़ियाँ सी क्यूँ आई, क्यूँ आई
उजियारे कैसे, अंगारे जैसे
छाओं छैली, धुप मैली क्यूँ हैं री

No comments:

Post a comment