14 September 2015

Lyrics Of "Hurdangi" From Latest Movie - Time Out (2015)

Hurdangi
Hurdangi
Lyrics Of Hurdangi From Movie - Time Out (2015): Nice playful song sung by K. Mohan, Sanchit Balhara and music composed by Sandesh Shandilya.

Music: Sandesh Shandilya
Lyrics: Riya Kothari
Star Cast: Chirag Malhotra, Pranay Pachauri, Kaamya Sharma, Aditya Jain, Vedabrata Rao, Sanya Arora, Riya Kothari, Raunaq Chopra.




The video of this song is available on YouTube at the official channel Zee Music Company. This video is of 2 minutes 24 seconds duration.

Lyrics of "Hurdangi"


hurdangi hoye
har raste ke apne do raaye hain
phir bhi musafir ek hi manzil chahe hai
jab thake toh take, ruke ruke raaste
kyun itna darre ye to aane jaane hai

pahadi se dusri pahadi mein
mann ke choti se gehri khai mein
hum sangi hai hurdangi hoye, hurdangi hoye
hum sangi hai hurdangi hoye, hurdangi hoye
hurdagi hoye, hurdangi hoye

dil ki sadak pe chale akad ke
ek haath mein steering
dusra botle pakad ke
milna chahiye chhori ho
jo dikhti hai sunny leone
baat baat pe bole
tu nai janda mere baap kaun

speaker volume badha rakha hai
dikki ko baar bana rakha hai
baap te apne bata rakha hai
kudiya de saare pata rakha hai

soye hai chain se
raat mein gogal pehan ke
sadka pe ghume bhai banke kisi behan ke
sar chadh gayi hai bhai dilli ki thand
zindagi jh* phir bhi ghamand

ruk ruk ke ghadiyo ke jaise
chalna chhod chuke
hum toh lehar hain
humko masoom na samjho
hum toh saraarat ka yaaro kehar hain

yeh kahani jo humko sunani hai
iske joonun mein, kisi ki tabaahi mein
hum sangi hoye hurdangi hoye, hurdangi hoye
hurdangi hoye, hurdangi hoye

Lyrics in Hindi (Unicode) of "हुडदंगी"


हुडदंगी होए
हर रस्ते के अपने दो राए हैं
फिर भी मुसाफिर एक ही मंजिल चाहे हैं
जब थके तो तके, रुके रुके रास्ते
क्यूँ इतना डरे ये तो आने जाने हैं

पहाड़ी से दूसरी पहाड़ी में
मन के चोटी से गहरी खाई में
हम संगी हैं हुडदंगी होए, हुडदंगी होए
हम संगी हैं हुडदंगी होए, हुडदंगी होए
हुडदंगी होए, हुडदंगी होए

दिल की सड़क पे चले अकड़ के
एक हाथ में स्टीयरिंग
दूसरा बोतल पकड़ के
मिलना चाहिए छोरी हो
जो दिखती हैं सनी लियॉन
बात बात पे बोले
तू नइ जांदा मेरे बाप कौन

स्पीकर वॉल्यूम बढ़ा रखा हैं
डिक्की को बार बना रखा हैं
बाप ते अपने बता रखा हैं
कुड़ियाँ दे सारे पता रखा हैं

सोए हैं चैन से
रात में गोगल पहन के
सडका पे घुमे भाई बनके किसी बहन के
सर चढ़ गई हैं भाई दिल्ली की ठण्ड
ज़िन्दगी झ* फिर भी घमंड

रुक रुक के घड़ियों के जैसे
चलना छोड़ चुके
हम तो लहर हैं
हमको मासूम ना समझो
हम तो शरारत का यारो कहर हैं

ये कहानी जो हमको सुनानी हैं
इसके जूनून मे, किसी की तबाही में
हम संगी होए हुडदंगी होए, हुडदंगी होए
हुडदंगी होए, हुडदंगी होए

No comments:

Post a comment