17 December 2015

Lyrics Of "Main Rahoon Ya Naa Rahoon" From Latest Album - Main Rahoon Ya Na Rahoon (2015).

Main Rahoon Ya Naa Rahoon
Main Rahoon Ya Naa Rahoon
Beautiful love song in the voice of Armaan Malik, music composed by Amaal Malik featuring Emraan Hashmi, Esha Gupta.

Singer: Armaan Malik
Music: Amaal Malik
Lyrics: Rashmi Virag
Featuring: Emraan Hashmi, Esha Gupta.




The video of this song is available on YouTube at the official channel T-Series. This video is of 6 minutes 46 seconds duration.



The lyrical video of this song is available on YouTube at the official channel T-Series. This video is of 5 minutes 19 seconds duration.

Lyrics of "Main Rahoon Ya Naa Rahoon"


main rahoon ya na rahoon
tum mujhme kahin baaki rehna
mujhe neend aaye jo aakhiri
tum khwabon mein aate rehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
main rahoon ya na rahoon
tum mujhme kahin baaki rehna

kisi roz baarish jo aaye
samajh lena boondo mein main hoon
subah dhoop tumko sataaye
samajh lena kirno mein main hoon
kisi roz baarish jo aaye
samajh lena boondo mein main hoon
subah dhoop tumko sataaye
samajh lena kirno mein main hoon

kuch kahun ya na kahun
tum mujhko sada sunte rehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna

hazaar baar socha, keh doon
ki friend nahi meri girlfriend hai tu
par sapne toot jaane ka darr
kabhi dil se gaya hi nahi

hawaaon mein lipta hua main
guzar jaaunga tumko chhu ke
agar mann ho to rok lena
thehar jaaunga in labon pe
hawaaon mein lipta hua main
guzar jaaunga tumko chhu ke
agar mann ho to rok lena
thehar jaaunga in labon pe

main dikhu ya na dikhu
tum mujhko mehsoos karna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna

bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
bas itna hai tumse kehna
main rahun ya na rahun
tum mujhme kahin baaki rehna


Lyrics in Hindi (Unicode) of "मैं रहूँ या ना रहूँ"


मैं रहूँ या ना रहूँ
तुम मुझमे कहीं बाकी रहना
मुझे नींद आये जो आखिरी
तुम ख्वाबो में आते रहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
मैं रहूँ या ना रहूँ
तुम मुझमे कहीं बाकी रहना

किसी रोज़ बारिश जो आये
समझ लेना बूंदों में मैं हूँ
सुबह धुप तुमको सताए
समझ लेना किरणों में मैं हूँ
किसी रोज़ बारिश जो आये
समझ लेना बूंदों में मैं हूँ
सुबह धुप तुमको सताए
समझ लेना किरणों में मैं हूँ

कुछ कहूँ या ना कहूँ
तुम मुझको सदा सुनते रहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना

हज़ार बार सोचा, कह दूं
की फ्रेंड नहीं मेरी गर्लफ्रेंड हैं तू
पर सपने टूट जाने का डर
कभी दिल से गया ही नहीं

हवाओं में लिपटा हुआ मैं
गुज़र जाऊँगा तुमको छू के
अगर मन हो तो रोक लेना
ठहर जाऊँगा इन लबों पे
हवाओं में लिपटा हुआ मैं
गुज़र जाऊँगा तुमको छू के
अगर मन हो तो रोक लेना
ठहर जाऊँगा इन लबों पे

मैं दिखू या ना दिखू
तुम मुझको महसूस करना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना

बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
बस इतना हैं तुमसे कहना
मैं रहूँ या ना रहूँ
तुम मुझमे कहीं बाकी रहना

No comments:

Post a comment